Home » Latest » कांग्रेस ने अफगानिस्तान में हालात बेहद चिंताजनक बताए

कांग्रेस ने अफगानिस्तान में हालात बेहद चिंताजनक बताए

अफगानिस्तान में तालिबान

Conditions in Afghanistan extremely disturbing, says Congress

नई दिल्ली, 16 अगस्त 2021. अफगानिस्तान में तालिबान के सत्ता में आने (Taliban coming to power in Afghanistan) के एक दिन बाद आज कांग्रेस ने वहां की स्थिति को बेहद खतरनाक बताते हुए कहा है कि भारत के रणनीतिक हित दांव पर लगे हैं।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने आज यहां मीडिया से बात करते हुए कहा, “अफगानिस्तान में स्थिति बेहद चिंताजनक है। भारत के रणनीतिक हित दांव पर हैं।”

सुरजेवाला ने कहा कि हमारे दूतावास और उसके कर्मियों के साथ-साथ भारतीय नागरिकों की भी सुरक्षा दांव पर लगी है।

उन्होंने कहा,

कांग्रेस पार्टी भारत के हितों की रक्षा करने के लिए मजबूती से खड़ी है और अफगानिस्तान में सरकार के पूर्ण पतन और तालिबान के अधिग्रहण पर हमारी सरकार से परिपक्व राजनीतिक और कूटनीतिक प्रतिक्रिया की उम्मीद करती है।”

उनकी टिप्पणी तालिबान द्वारा यह घोषित किए जाने के एक दिन बाद आई है कि अफगानिस्तान में युद्ध समाप्त हो गया है।

दोहा में तालिबान के राजनीतिक कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद नईम ने अल जजीरा को बताया कि समूह अलग-थलग नहीं रहना चाहता और कहा कि अफगानिस्तान में नई सरकार के प्रकार और रूप को जल्द ही स्पष्ट कर दिया जाएगा।

सरकार की चुप्पी पर कांग्रेस ने सवाल उठाया

कांग्रेस नेता ने सरकार की चुप्पी पर भी सवाल उठाया और कहा, “नरेंद्र मोदी सरकार की चौंकाने वाली चुप्पी बेहद परेशान करने वाली और बेहद पेचीदा है, जो किसी भी उचित समझ से परे है।”

उन्होंने कहा, मोदी सरकार द्वारा हमारे नागरिकों को निकालने के लिए एक सुविचारित योजना को गति देने से इनकार करना अपने कर्तव्य का घोर परित्यागहै और पूरी तरह से अस्वीकार्य है।

उन्होंने कहा,

पाकिस्तान के आईएसआई और जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम), लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी), जमात-उ-दावा (जेयूडी) के साथ तालिबान और हक्कानी नेटवर्क के संबंध जगजाहिर हैं।”

उन्होंने कहा कि इस पृष्ठभूमि में हमारे भू-राजनीतिक हितों और जम्मू-कश्मीर पर इसके प्रभाव पर फिर से विचार करने की तत्काल आवश्यकता है।

उन्होंने कहा,

दुख की बात है कि मोदी सरकार इससे बेखबर है।”

सुरजेवाला ने कहा,

प्रधानमंत्री (नरेंद्र मोदी) और विदेश मंत्री (एस जयशंकर) को हमारे नागरिकों, दूतावास कर्मियों की सुरक्षित वापसी और हमारे भविष्य के संबंधों के लिए हमारी नीति को स्पष्ट रूप से बताने की जरूरत है।”

सरकार की चुप्पी पर सवाल उठाते हुए सुरजेवाला ने कहा,

इस अत्यंत महत्वपूर्ण मोड़ पर अस्पष्टीकृत चुप्पी एक उचित आशंका को जन्म देती है कि मोदी सरकार देश से कुछ छिपा रही है।”

उन्होंने कहा,

समय की जरूरत है कि मोदी सरकार नींद से उठे और अफगानिस्तान में भारतीय नागरिकों की रक्षा करे और देश को बताए कि वह अपने पड़ोस में खतरनाक स्थिति से कैसे निपटेगी।”

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

entertainment

कोरोना ने बड़े पर्दे को किया किक आउट, ओटीटी की बल्ले-बल्ले

Corona kicked out the big screen, OTT benefited सिनेमाघर बनाम ओटीटी प्लेटफॉर्म : क्या बड़े …

Leave a Reply