अहमद पटेल के खिलाफ एसआईटी के आरोपों को कांग्रेस ने बताया मनगढ़ंत और शरारती

अहमद पटेल के खिलाफ एसआईटी के आरोपों को कांग्रेस ने बताया मनगढ़ंत और शरारती

नई दिल्ली, 16 जुलाई 2022. दिवगंत कांग्रेस नेता अहमद पटेल पर सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़ को पैसे देने और गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ ‘बड़ी साजिश’ रचने का दावा करने वाली गुजरात पुलिस एसआईटी की चार्जशीट को कांग्रेस ने ‘शरारती और मनगढ़ंत’ करार दिया है।

कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने कहा, यह 2002 में गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में किए गए सांप्रदायिक नरसंहार के लिए किसी भी जिम्मेदारी से खुद को मुक्त करने के लिए प्रधानमंत्री की व्यवस्थित रणनीति का हिस्सा है। इस नरसंहार को नियंत्रित करने की उनकी अनिच्छा और अक्षमता ही थी, जिसने भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को मुख्यमंत्री को उनके राजधर्म की याद दिलाने के लिए प्रेरित किया था।

बयान में कहा गया है कि यह प्रधानमंत्री का राजनीतिक प्रतिशोध है, जो दिवंगत को भी नहीं बख्शती।

श्री रमेश ने कहा, यह एसआईटी अपने राजनीतिक गुरु की धुन पर नाच रही है और जहां से कहा जाएगा वहीं बैठ जाएगी। हम जानते हैं कि कैसे एक पूर्व एसआईटी प्रमुख को मुख्यमंत्री को ‘क्लीन चिट’ देने के बाद एक राजनयिक कार्य के साथ पुरस्कृत किया गया था।

उन्होंने कहा कि कठपुतली जांच एजेंसियां वर्षों से मोदी-शाह की जोड़ी की रणनीति की पहचान रही हैं।

कांग्रेस महासचिव ने कहा, यह उसी का एक और उदाहरण है। एक मृत व्यक्ति को बदनाम किया जा रहा है।

बता दें, अहमद पटेल का कोरोना की पहली लहर के दौरान 25 नवंबर 2020 को निधन हो गया था।

Congress called the allegations of SIT against Ahmed Patel fabricated and mischievous

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner