Home » Latest » बागपत जाते कांग्रेसी नेता गिरफ्तार
Congress leader arrested in Baghpat

बागपत जाते कांग्रेसी नेता गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के बागपत में दो समुदायों के बीच हुए आपसी संघर्ष की वास्तविकता को जानने के लिए उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी का डेलिगेशन पहुंचा।

बागपत जाते हुए रास्ते में बड़ा गांव, खेकड़ा विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेसी नेताओं को रोका गया।

तीन घंटे के पश्चात डेलिगेशन को रिहा किया गया।

हापुड़, 27 जुलाई 2020। सोमवार को उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव बदरुद्दीन कुरैशी, दीपक कुमार (उपाध्यक्ष, उ. प्र.कांग्रेस कमेटी) के साथ सतीश शर्मा(पूर्व मंत्री, गाजियाबाद), निजाम मलिक (उपाध्यक्ष, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी), लियाकत चौधरी (अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कोर्डिनेटर), डॉ.खालिद खान (अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कोर्डिनेटर) बागपत पहुंचे।

बागपत में कुछ दिन पहले दो समुदायों के बीच क्रिकेट खेलने को लेकर आपसी संघर्ष हो गया था, जिसके बाद से वहां अशांति का माहौल बना हुआ था। बागपत में दो समुदायों के बीच हुए आपसी संघर्ष की वास्तविकता को जानने के लिए उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी का डेलिगेशन सोमवार को जैसे ही बड़ा गांव, खेकड़ा विधानसभा क्षेत्र में पहुंचा, तो बागपत के डी.एम., एस. पी., ए. एस.पी., सी.ओ. व भारी पुलिस कर्मियों का जमावड़ा वहां मौजूद स्थान पर पहुंचा, और उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के डेलिगेशन को वही रोक लिया।

काफी देर तक पुलिस प्रशासन व अधिकारियों से उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के डेलिगेशन ने निवेदन किया, तो वे नहीं माने।

इसी बीच बागपत से जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डॉक्टर युनूस अपने दल के साथ वहां पर पहुंचे। इसके पश्चात पुलिस प्रशासन ने उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के डेलिगेशन व समस्त कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर धारा 188 और 169 बी के तहत मुकदमा दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया। करीब 3 घंटे पश्चात कांग्रेसी नेताओं को रिहा कर दिया गया।

अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष निजाम मलिक, उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष दीपक कुमार और उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव बदरुद्दीन कुरैशी ने मांग की है कि बागपत में दो समुदायों के बीच जो आपसी संघर्ष हुआ है उस घटना की गहनता से जांच की जाए, पता लगाया जाए कि घटना में लिप्त लोगों के पास तलवारे कहां से आयीं?

इतना ही नहीं उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के डेलिगेशन ने यह भी कहा कि जब से उत्तर प्रदेश की सत्ता में भारतीय जनता पार्टी की योगी सरकार आई है तब से उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था ध्वस्त हो गई है आए दिन कोई ना कोई अपराध की घटना उत्तर प्रदेश में निरंतर सामने आ रही हैं। योगी सरकार उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था संभालने में पूर्ण तरह से नाकाम व विफल साबित हो रही है व उत्तर प्रदेश में अराजकता का माहौल चरम सीमा पर पहुंच गया है।

यह जानकारी एक प्रेस विज्ञप्ति में दी गई है।

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

दिनकर कपूर Dinkar Kapoor अध्यक्ष, वर्कर्स फ्रंट

सस्ती बिजली देने वाले सरकारी प्रोजेक्ट्स से थर्मल बैकिंग पर वर्कर्स फ्रंट ने जताई नाराजगी

प्रदेश सरकार की ऊर्जा नीति को बताया कारपोरेट हितैषी Workers Front expressed displeasure over thermal …