Home » समाचार » तकनीक व विज्ञान » गैजेट्स » कांग्रेस के धर्माचार्य का बैक फायर : अय्यर, सिद्धू, सिन्हा के पाकिस्तान जाने पर उठाए सवाल, हो गए ट्रोल
Acharya Pramod Krishnam.jpg

कांग्रेस के धर्माचार्य का बैक फायर : अय्यर, सिद्धू, सिन्हा के पाकिस्तान जाने पर उठाए सवाल, हो गए ट्रोल

Congress’s Dharmacharya’s back fire: Questions raised about Iyer, Sidhu, Sinha going to Pakistan, trolled

नई दिल्ली 23 फरवरी 2020. आचार्य प्रमोद कृष्णम् हिन्दू धर्मगुरू हैं, टीवी का प्रिय चेहरा हैं, लखनऊ से कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ चुके हैं। बताया जाता है वह “त्यागी” हैं लेकिन कांग्रेस में ब्राह्मण चेहरा समझे जाते हैं, आजकल कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के राजनीतिक गुरु भी समझे जाते हैं। भाजपा पर तीखे वार करते हैं, बीच-बीच में अखिलेश यादव को भी छुआ देते हैं। आरक्षण जैसे मसले पर कांग्रेस की सोच कुछ हो, लेकिन आचार्यजी उसके उलट बोलते हैं। पिछले दिनों नीले झंडे को लेकर उन्होंने यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और पूर्व सांसद पीएल पूनिया को नसीहत दे डाली तो “दलित कांग्रेस” ने आचार्य जी को कांग्रेस का इतिहास पढ़ने की सलाह दे डाली।

अब इन्हीं आचार्य प्रमोद कृष्णम् ने कांग्रेस के तीन बयान बहादुरों, (जिन्होंने कांग्रेस का बहुत नुकसान किया है) मणि शंकर अय्यर, नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) और पुराने स्वयंसेवक से नए कांग्रेसी हुए शत्रुघ्न सिन्हा की पाकिस्तान यात्राओं पर सवाल उठाया है।

कृष्णम् ने ट्वीट किया,

“मणिशंकर हों या “सिद्धू” और अब शत्रुघ्न सिन्हा, बार-बार पाकिस्तान क्यूँ जाते हैं, आख़िर

इनका “पाकिस्तान” से रिश्ता क्या है………………..?

@INCIndia

@PMOIndia”

इस ट्वीट में उन्होंने पीएमओ और कांग्रेस के आधिकारिक हैंडल को टैग किया।

आचार्य प्रवर यह ट्वीट करने के बाद ट्रोल हो गए। संघी ट्रोल आर्मी ने उनकी हां में हां भी मिलाई और ट्रोल भी किया।

सुबोध गुप्ता नाम के एक ट्विराती ने जवाब दिया,

“प्रमोद जी तुम्हारी असली प्रॉब्लम शत्रुघ्न सिन्हा है जो अपनी बीबी का प्रचार करने लखनऊ गया था।

बाकी सिद्धू और मणि का नाम तुमने कंफ्यूजन डालने के लिए दिए।“

लगता है सुबोध गुप्ता सही पकड़े हैं ! हालांकि आचार्य जी कांग्रेस के एक और बयान बहादुर शशि थरूर को याद करना भूल गए हैं।

आप हस्तक्षेप के पुराने पाठक हैं। हम जानते हैं आप जैसे लोगों की वजह से दूसरी दुनिया संभव है। बहुत सी लड़ाइयाँ जीती जानी हैं, लेकिन हम उन्हें एक साथ लड़ेंगे — हम सब। Hastakshep.com आपका सामान्य समाचार आउटलेट नहीं है। हम क्लिक पर जीवित नहीं रहते हैं। हम विज्ञापन में डॉलर नहीं चाहते हैं। हम चाहते हैं कि दुनिया एक बेहतर जगह बने। लेकिन हम इसे अकेले नहीं कर सकते। हमें आपकी आवश्यकता है। यदि आप आज मदद कर सकते हैंक्योंकि हर आकार का हर उपहार मायने रखता है – कृपया। आपके समर्थन के बिना हम अस्तित्व में नहीं होंगे।

मदद करें Paytm – 9312873760

Donate online –

हमारे बारे में hastakshep

Check Also

Corona virus

सरकारी संस्था ट्राइफेड ने कहा, लॉकडाउन में बाजार की शक्तियां आदिवासियों को वन उत्पाद बेचने से रोक सकती हैं

The government body Trifed said market forces could prevent tribals from selling forest produce in …

Leave a Reply