Home » Latest » बैंकों का विलय बना मुसीबत : मोदी सरकार के सारे फैसले जनता को दुख देने वाले
Bank

बैंकों का विलय बना मुसीबत : मोदी सरकार के सारे फैसले जनता को दुख देने वाले

बैंकों के विलय से उपभोक्ताओं को झेलनी पड़ रही हैं परेशानियां Consumers are facing problems due to merger of banks

रायपुर, 25 अप्रैल 2021. देश के प्रमुख बैंकों का विलय किया जाना उनके उपभोक्ताओं के लिए आफत बना हुआ है। बताया जा रहा है कि गूगल पे, फोन पे जैसी ऑनलाइन भुगतान करने वाले एप में बैंकों के पुराने व नए आइएफएससी कोड (इंडियन फाइनेंसियल सिस्टम कोड) अमान्य बताए जा रहे हैं। इसकी वजह से ऑनलाइन भुगतान होना बड़ी समस्या बन गई है।

इसके अलावा दूसरी बड़ी परेशानी उन लोगों के सामने शुरू हो गई है जिनका एफडी की अवधि पूरी हो गई है और इस वजह से भुगतान नहीं हो पा रहा है।

इस संबंध में छत्तीसगढ़ बैंक एम्प्लाइज फेडरेशन (Chhattisgarh Bank Employees Federation) के महामंत्री शिरीष नलगुंडवार ने बताया कि बैंकों का विलय तो गया है लेकिन सॉफ्टवेयर अपडेशन (Software update) का काम चल रहा है। इस वजह से ही थोड़ी परेशानी आ रही है। जैसे ही अपडेशन का काम पूरा हो जाएगा लोगों की परेशानियां भी दूर हो जाएंगी।

काम नहीं कर रहा एटीएम | ATM not working

बहुत से उपभोक्ताओं द्वारा बताया जा रहा है कि विलय की वजह से उनके बैंकों का एटीएम उनके बैंक में काम नहीं कर रहा है। हालांकि दूसरे बैंकों में उपयोग हो रहा है, लेकिन इसकी वजह से बेवजह ही उनके पैसे कट जा रहे है।

सबसे ज्यादा दिक्कत उन्हें हो रही है जिनके बच्चे या परिवार के लोग घर से दूर रह रहे है। आइएफएससी कोड का मिलान न होने की वजह से ये लोग न तो रुपये भेज पा रहे हैं और न ही उनके खाते में रुपये में आ रहे हैं।

टिकरापारा निवासी अमित कुमार ने बताया कि उनका खाता यूनियन बैंक में है, लेकिन अभी उनका एटीएम कार्ड यूनियन बैंक में काम नहीं कर रहा है। लेकिन उनका कार्ड दूसरे बैंक के एटीएम में काम करता है। इससे पैसे भी कट जा रहे हैं। संतोषीनगर निवासी राहुल शर्मा ने बताया कि उनका अकाउंट ओरियंटल बैंक में है।

बैंकों के विलय की वजह से अभी काफी परेशानी हो रही है। अभी ओरियंटल बैंक ऑफ कामर्स के अकाउंट में आनलाइन धनराशि नहीं भेज पा रहे। गूगल पे बैंक शाखा के दोनों; नए व पुराने आइएफएससी को गलत बता रहा है।

जानकारी के अनुसार बीते साल इन चार बड़े बैंकों में छह बैंकों का विलय कर दिया गया था। इसके तहत पंजाब नेशनल बैंक में ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (Oriental Bank of Commerce) व यूनाइटेड बैंक मर्ज हो गए है। इसी प्रकार यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (Union Bank of India) में आंध्रा बैंक व कॉर्पोरेशन बैंक का मर्जर है। इंडियन बैंक में इलाहाबाद बैंक व केनरा बैंक में सिंडिकेट बैंक का मर्जर है।

बताया जा रहा है कि विलय के बाद बैंकों की अधिकांश शाखाओं का आईएफएससी बदल दिया गया है या बदलाव की प्रक्रिया में है।

यहां पंद्रह दिन से बंद है बैंकों का कामकाज | Banks are closed for fifteen days here

कोरोना संक्रमण के चलते हुए लॉकडाउन (Lockdown due to corona infection) के कारण इन दिनों राजधानी रायपुर सहित प्रदेश के कई क्षेत्रों में बैंकों का कामकाज बंद है और लोगों का लेनदेन नहीं हो रहा है। बताया जा रहा है कि कुछ आवश्यक चिकित्सकीय सेवाओं के लिए ही लेनदेन की अनुमति है और उसमें भी उपभोक्ता को आवेदन देना होगा।

(देशबन्धु)

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

political prisoner

“जय भीम” : जनसंघर्षों से ध्यान भटकाने का एक प्रयास

“जय भीम” फ़िल्म देख कर कम्युनिस्ट लोट-पोट क्यों हो रहे हैं? “जय भीम” फ़िल्म आजकल …

Leave a Reply