कोरोना महामारी पर अंकुश लगाने के लिए आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति करने वालों का हो कोरोना टेस्ट अनिवार्य

Corona test should be mandatory for those who supply the necessary items to curb the corona epidemic

अब तक सरकारें ऐसा करने में रही हैं विफल

बनारस में उपाध्याय जी दवाओं के सप्लायर हैं। अमेरिका से लौटे थे, संक्रमित थे। वह और उनका पूरा परिवार कोरोना पॉज़िटिव (Corona positive) पाया गया। उनसे दवा खरीदने वाले कई मेडिकल स्टोर वाले भी पाज़िटिव पाए गए। कई ज़िलों में उनसे दवा लेने वाले ढूँढे जा रहे हैं।

आगरा और वाराणसी समेत कई शहरों में सब्ज़ी बेचने वाले संक्रमित (Vegetable sellers infected) पाए गए हैं। उनसे भी लोग संक्रमित हुए हैं।

यह बहस बेमानी है कि कौन पाज़िटिव था और उससे किस-किस तक कोरोना फैला। यह बहस पूरी दुनिया में कहीं भी नहीं है।

इस पर समय नष्ट करने के बजाए सरकार द्वारा आवश्यक वस्तुओं जैसे फल, सब्ज़ी, दवा, राशन जैसी दैनिक इस्तेमाल की चीजों की पूरी चैन को चिन्हित किया जाए और ऊपर से नीचे तक उनका टेस्ट करवाने की व्यवस्था की जाए, ताकि इन आवश्यक वस्तुओं के साथ कोरोना संक्रमण लॉक डाउन के पालन से निश्चिंत जनता के घरों तक ना पहुँच जाए।

सरकार का ध्यान इस तरफ बिल्कुल भी नहीं है। अगर इस सप्लाई चैन को सुरक्षित नहीं बनाया गया तो कोरोना संक्रमण को रोक पाना असंभव हो जाएगा।

अगर इस पर राजनीति की जाती रही तो तबलीग से शुरू हुआ यह अभियान आरोप प्रत्यारोप के माध्यम से सिख श्रद्धालुओं के साथ दवा विक्रेता, सब्ज़ी विक्रेता से होता हुआ प्रवासी मजदूरों तक और ना जाने कहां-कहां तक जाएगा लेकिन कोरोना महामारी अपनी रफ्तार से बढ़ती जाएगी।

इसलिए सरकार को चाहिए कि आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई की पूरी चैन में शामिल सभी का कोरोना टेस्ट करवाना सुनिश्चित करे और बिना निगेटिव रिपोर्ट वाला कोई भी व्यक्ति उस चैन में ना रहने पाए।

मसीहुद्दीन संजरी

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations