कोरोना : पाकिस्तान में पेट्रोल-डीजल 15 रुपये प्रति लीटर सस्ता, 1.2 ट्रिलियन रुपये का राहत पैकेज का ऐलान, गरीब को मिलेगा तीन हजार रुपया मासिक

Corona: Petrol-diesel cheaper by Rs 15 per liter in Pakistan, comprehensive relief package announced

नई दिल्ली, 25 मार्च 2020. पाकिस्तान में इमरान खान सरकार ने पेट्रोल, डीजल, केरोसिन व अन्य ईंधनों के दाम में 15 रुपये (पाकिस्तानी) प्रति लीटर की कटौती करने का ऐलान किया है।

यह उपाय प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा कोरोना वायरस से निपटने के लिए घोषित लगभग 1.2 ट्रिलियन रुपये (पाकिस्तानी) के राहत पैकेज का हिस्सा है।

पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट में यह जानकारी देते हुए बताया गया है कि प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस से अर्थव्यवस्था और लोगों की रोजाना की जिंदगी पर पड़ने वाले बड़े नकारात्मक असर को कम करने के लिए मंगलवार को इस पैकेज का ऐलान किया।

इमरान ने संवाददाताओं से कहा कि पेट्रोल-डीजल-केरोसिन व अन्य पेट्रोलियम उत्पादों के दाम में 15 रुपये प्रति लीटर की कमी करने का फैसला किया गया है। उन्होंने कहा कि इससे राष्ट्रीय खजाने पर 75 अरब रुपयों का भार पड़ेगा।

उन्होंने आर्थिक राहत पैकेज के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि 200 अरब रुपये रोजाना मजदूरी कर जिंदगी चलाने वाले दैनिक मजदूर वर्ग के लिए आवंटित किए गए हैं जिसकी रोजी-रोटी पर कोरोना वायरस की सर्वाधिक मार पड़ी है।

उन्होंने कहा कि व्यापारियों, निर्यातकों और उद्योगों को टैक्स रिफंड के लिए 100 अरब रुपये तत्काल जारी किए जाएंगे। इसके साथ ही उद्योगों को ब्याज की किस्ते चुकाने में भी राहत दी जाएगी। लघु एवं सूक्ष्म उद्योगों और कृषि क्षेत्र के लिए 100 अरब रुपये दिए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि पूरे पाकिस्तान के निर्धन परिवारों के लिए 150 अरब रुपये निर्धारित किए गए हैं जिसमें से प्रत्येक परिवार को मासिक तीन हजार रुपया मिलेगा।

उन्होंने कहा कि चिकित्सा कर्मियों को जरूरी सामानों की आपूर्ति के लिए 50 अरब रुपये दिए जाएंगे।

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने कहा कि तीन सौ यूनिट तक बिजली इस्तेमाल करने वालों को बिजली बिल तीन किस्तों में चुकाने की इजाजत दी गई है।

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन के नकारात्मक नतीजों से निपटने के लिए 100 अरब रुपये रिजर्व में रखे जाएंगे।

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Leave a Comment
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations