कोरोना का कहर : दिल्ली मेट्रो की एडवाइजरी, एक सीट छोड़कर बैठें

Corona virus infection : Advisory issued by Delhi Metro

नई दिल्ली, 20 मार्च 2020 : कोरोना वायरस के संक्रमण (Corona virus infection) को रोकने के लिए सरकारें कई कदम उठा रही हैं। पीएम नरेंद्र मोदी की घोषणा के बाद दिल्ली की लाइफ लाइन दिल्ली मेट्रो ने भी कुछ पाबंदी लागू कर दी हैं। सुबह से ही मेट्रो में कम भीड़ देखा जा रहा है।

Seat in the metro

दिल्ली रेल मेट्रो कॉरपोरेशन (डीएमआरसी)- Delhi Rail Metro Corporation (DMRC) लोगों को मेट्रो में एक सीट छोड़कर बैठने को कह रही है। नियंत्रित संख्या में ही यात्रियों को अंदर जाने दिया जा रहा है। मेट्रो द्वारा पब्लिक एड्रेस सिस्टम के जरिये बार-बार इसकी घोषणा भी की जा रही है।

Corona cases are increasing across the country.

देशभर में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं। अब तक 195 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं, जिसमें से चार लोगों की मौत हो गई है।

Advisory issued by Delhi Metro

दिल्ली मेट्रो की तरफ से जारी एडवाइजरी में कहा गया है कि यात्री मेट्रो का इस्तेमाल सिर्फ और सिर्फ जरूरी होने पर ही करें। इसके साथ ही मेट्रो में सफर करते वक्त भी सोशल डिस्टेंसिंग बरकरार रखने को कहा गया है। मेट्रो में या स्टेशन पर यात्रा करते समय कृपया एक-दूसरे से कम से कम 1 मीटर की दूरी बनाए रखें।

ध्यान रहे कि दिल्ली मेट्रो की ओर से जारी की गई 8 प्वाइंट एडवाइजरी में यह भी कहा गया है,

“यात्री खड़े होकर यात्रा न करें। बैठते वक्त भी यात्री बीच में एक सीट छोड़कर बैठें।”

इसके अलावा मेट्रो में सफर कर रहे यात्रियों की रैंडल थर्मल स्कैनिंग भी की जा रही है।

दिल्ली मेट्रो ने अपनी एडवाइजरी में कहा कि जिन स्टेशनों पर यात्रियों की भीड़ होगी यानी जहां यात्रियों के बीच 1 मीटर की अपेक्षित दूरी नहीं होगी वहां मेट्रो नहीं रुकेगी। कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों या कोरोनावायरस के लक्षण वाले यात्रियों को किसी भी मोड से यात्रा ना करने की सलाह दी गई है।

डीएमआरसी ने लोगों से अपील की है कि वैश्विक संकट से निपटने के लिए सभी को संकल्प लेना होगा और सहयोग करना होगा।

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations