Home » Latest » कोरोना वायरस लॉकडाउन : आईआरसीटीसी ने कहा यात्री ई-रेल टिकट खुद रद्द न करें
#CoronavirusLockdown, #21daylockdown , coronavirus lockdown, coronavirus lockdown india news, coronavirus lockdown india news in Hindi, #कोरोनोवायरसलॉकडाउन, # 21दिनलॉकडाउन, कोरोनावायरस लॉकडाउन, कोरोनावायरस लॉकडाउन भारत समाचार, कोरोनावायरस लॉकडाउन भारत समाचार हिंदी में, भारत समाचार हिंदी में,

कोरोना वायरस लॉकडाउन : आईआरसीटीसी ने कहा यात्री ई-रेल टिकट खुद रद्द न करें

Corona virus lockdown: IRCTC said passengers should not cancel e-rail tickets themselves

नई दिल्ली, 25 मार्च 2020 : भारतीय रेल खान-पान एवं पर्यटन निगम– Indian Railway Catering & Tourism Corporation Ltd.  Largest e commerce portal of Asia Pacific, (आईआरसीटीसी) ने कहा है कि देश भर में लॉकडाउन के कारण रेलवे द्वारा ट्रेन रद्द करने की सूरत में वे अपने ई-रेल टिकट को खुद रद्द न करें। कोरोना वायरस के प्रकोप की रोकथाम (Corona virus outbreak prevention) के मददेनजर देश में तीन सप्ताह के लिए लॉकडाउन (#CoronavirusLockdown, #21daylockdown) कर दिया गया है और इस दौरान सड़क एवं रेल यातायात बंद कर दिया गया है।

आईआरसीटीसी ने कहा कि रेलवे द्वारा परिचालित पैसेंजर ट्रेनों की सेवा बंद करने के बाद ई-टिकट खरीदने वाले यात्रियों को टिकट का रिफंड स्वत: मिल जाएगा इसके लिए उनको ई-टिकट रद्द करने की आवश्यकता नहीं है।

उन्होंने कहा कि अगर यात्री ई-टिकट रद्द (E-ticket canceled) करते हैं तो संभव है कि रिफंड कम मिलेगा। इसलिए यात्रियों को सलाह दी जाती है कि वे ट्रेन रद्द होने की सूरत में वे अपने ई-टिकट खुद रद्द न करें।

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

shahnawaz alam

ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर सर्वे : मीडिया और न्यायपालिका के सांप्रदायिक हिस्से के गठजोड़ से देश का माहौल बिगाड़ने की हो रही है कोशिश

फव्वारे के टूटे हुए पत्थर को शिवलिंग बता कर अफवाह फैलायी जा रही है- शाहनवाज़ …