कोरोना वायरस लॉकडाउन : आईआरसीटीसी ने कहा यात्री ई-रेल टिकट खुद रद्द न करें

Corona virus lockdown: IRCTC said passengers should not cancel e-rail tickets themselves

नई दिल्ली, 25 मार्च 2020 : भारतीय रेल खान-पान एवं पर्यटन निगम– Indian Railway Catering & Tourism Corporation Ltd.  Largest e commerce portal of Asia Pacific, (आईआरसीटीसी) ने कहा है कि देश भर में लॉकडाउन के कारण रेलवे द्वारा ट्रेन रद्द करने की सूरत में वे अपने ई-रेल टिकट को खुद रद्द न करें। कोरोना वायरस के प्रकोप की रोकथाम (Corona virus outbreak prevention) के मददेनजर देश में तीन सप्ताह के लिए लॉकडाउन (#CoronavirusLockdown, #21daylockdown) कर दिया गया है और इस दौरान सड़क एवं रेल यातायात बंद कर दिया गया है।

आईआरसीटीसी ने कहा कि रेलवे द्वारा परिचालित पैसेंजर ट्रेनों की सेवा बंद करने के बाद ई-टिकट खरीदने वाले यात्रियों को टिकट का रिफंड स्वत: मिल जाएगा इसके लिए उनको ई-टिकट रद्द करने की आवश्यकता नहीं है।

उन्होंने कहा कि अगर यात्री ई-टिकट रद्द (E-ticket canceled) करते हैं तो संभव है कि रिफंड कम मिलेगा। इसलिए यात्रियों को सलाह दी जाती है कि वे ट्रेन रद्द होने की सूरत में वे अपने ई-टिकट खुद रद्द न करें।

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations