Home » समाचार » दुनिया » कोरोनावायरस : चीन में अब तक 722 लोगों की मौत,  सिंगापुर, थाईलैंड, हांगकांग के विमान यात्री भी स्कैनिंग के दायरे में
corona virus live update

कोरोनावायरस : चीन में अब तक 722 लोगों की मौत,  सिंगापुर, थाईलैंड, हांगकांग के विमान यात्री भी स्कैनिंग के दायरे में

Coronavirus: 722 dead in China so far, Singapore, Thailand, Hong Kong aircraft passengers also under scanning

नई दिल्ली, 8 फरवरी 2020. चीन में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 722 हो गयी है, जबकि 34,546 लोगों में इस संक्रमण के पाये जाने की पुष्टि हुई है। इधर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कोरोना वायरस के फैलते संक्रमण को देखते हुए अब चीन के अलावा थाईलैंड, हांगकांग और सिंगापुर से आने वाले सभी विमान यात्रियों को थर्मल स्क्रीनिंग के दायरे में रखा गया है।

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने शनिवार को एक वक्तव्य जारी कर जानकारी दी कि सात फरवरी की मध्यरात्रि तक उसे 31 प्रांतों से जानकारी मिली, जिसके अनुसार कोरोना वायरस के 34,546 मामलों की पुष्टि की जा चुकी है जिसमें से 6,101 लोगों की हालत नाजुक बनी हुई है। 722 लोगों की मौत हो चुकी है तथा 2,050 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी है।

The Union Health Secretary in India reviewed the preparations of Ministries, Departments and States on Novel Corona Virus through Video Conferencing

इधर भारत में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए नोवेल कोरोना वायरस पर मंत्रालयों, विभागों और राज्यों की तैयारी की समीक्षा की

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की सचिव प्रीति सुदान ने कहा,

“हांगकांग और चीन के अलावा सिंगापुर और थाईलैंड की सभी उड़ानों की पूरी थर्मल स्क्रिनिंग की जा रही है।”

उन्होंने कहा,

“नोवेल कोरोनावायरस के कारण उत्पन्न होने वाली स्थिति से निपटने के लिए सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को हरसंभव मदद दी जा रही है। हमने मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सचिव से आग्रह किया गया है कि वे देशभर के छात्रों में स्वच्छता के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए पर्याप्त उपाय करें।”

Novel corona virus prevention and management

स्वास्थ्य सचिव प्रीती सुदान ने शुक्रवार को नई दिल्ली में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए नोवेल कोरोना वायरस की रोकथाम और प्रबंधन की तैयारियों का जायजा लेने के लिए राज्यों के स्वास्थ्य सचिवों, नौवहन मंत्रालय, विदेश मंत्रालय, नागरिक उड्डयन मंत्रालय, पर्यटन मंत्रालय और गृह मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक बैठक की अध्यक्षता की।

प्रीती सुदान ने राज्यों को हिदायत दी कि वे अलर्ट रहें और अधिक चौकसी से काम करें।

उन्होंने कहा,

“वास्तविक आधार पर ऐसे मामलों की निगरानी के लिए एक विशेष निगरानी वेब टूल से लैस पोर्टल शुरू कर दिया गया है।”

उन्होंने राज्यों को हिदायत दी कि वे समय-समय पर सटीक आंकड़े पोर्टल पर उपलब्ध कराते रहें।

उन्होंने कहा कि सीमावर्ती क्षेत्रों में संबंधित जिलों के मुख्य चिकित्सा अधिकारियों के स्तर पर समन्वय को मजबूत करें। इस कदम से जिला स्तर पर प्रशासनिक ढांचा भी दुरुस्त होगा।

उन्होंने बताया कि नेपाल की सीमा से लगने वाले राज्यों ने सूचित किया कि उन्होंने सीमापार से आने वाले सभी व्यक्तियों की स्क्रीनिंग करने के सभी आवश्यक प्रबंध कर लिए हैं।

Passenger screening at all 21 airports, international ports and borders

स्वास्थ्य सचिव ने कहा,

“अब सभी 21 हवाईअड्डों, अंतर्राष्ट्रीय बंदरगाहों और सीमाओं पर यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा रही है।”

उन्होंने यह भी बताया कि अब तक 21 हवाई अड्डों पर 1275 उड़ानों और 1,39,539 यात्रियों की स्क्रीनिंग की गई है। वुहान से स्वदेश लाये जाने वाले सभी 645 भारतीयों में रोग के लक्षण नहीं पाए गए हैं। अब तक 1232 नमूनों की जांच की गई है और 1199 नमूनों में कोई लक्षण नहीं पाया गया है। 30 नमूने जांच की प्रक्रिया में हैं और तीन नमूनों में रोग के लक्षण पाए गए हैं। ये तीनों नमूने केरल के हैं। इस समय 29 राज्यों/केन्द्रशासित प्रदेशों में 6599 व्यक्ति सामुदायिक निगरानी में है।

सुदान ने बताया कि रोग की रोकथाम को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जा रही है। किसी भी प्रकार की आपात स्थिति से निपटने के लिए राज्यों को अपनी चौकसी बढ़ाने की आवश्यकता है। इसके अलावा सभी जिलों में प्रशासनिक गतिविधियों में तेजी लाए जाने की जरूरत है।

हस्तक्षेप के संचालन में मदद करें!! सत्ता को दर्पण दिखाने वाली पत्रकारिता, जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, के संचालन में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.  

हमारे बारे में hastakshep

Check Also

Kisan

आत्मनिर्भर भारत में पांच मांगें, 26 संगठन, 10 जून को करेंगे छत्तीसगढ़ में राज्यव्यापी आंदोलन

होगा राज्य और केंद्र सरकार की कृषि और किसान विरोधी नीतियों का विरोध रायपुर, 06 …

Leave a Reply