Home » Latest » कोरोना का कहर : ओल्ड एज होम्स में बुजुर्गों को छोड़ा, कइयों ने दम तोड़ा, आपराधिक जांच शुरू हुई

कोरोना का कहर : ओल्ड एज होम्स में बुजुर्गों को छोड़ा, कइयों ने दम तोड़ा, आपराधिक जांच शुरू हुई

The Spanish Army has found elderly people abandoned and dead inside retirement homes, according to Defence Minister Margarita Robles. A criminal investigation has been launched.

नई दिल्ली, 24 मार्च 2020. कोरोना के कहर से स्पेन में बुजुर्ग परित्यक्त हो गए हैं और इस हालात में कइयों ने अपने बिस्तरों पर दम तोड़ दिया है। स्पेन की सेना ने बुजुर्गों को परित्यक्त एवं मृत हालत में पाया है।

कोरोना ने दुनियाभर में सबसे ज्यादा कहर बुजुर्गों पर ही ढाया है।

कोरोनावायरस से प्रकोप से निपटने के लिए स्पेन में सेना ने मोर्चा संभाला है क्योंकि वहां इस जानलेवा वायरस ने बुजुर्गों पर कहर बरपाया है।

बीबीसी की एक रिपोर्ट Coronavirus: Spanish army finds care home residents ‘dead and abandoned’ में स्पेन की रक्षामंत्री के हवाले से कहा गया है कि बुजुर्ग लोग परित्यक्त व मृत अवस्था में बिस्तरों पर पाए गए हैं।

 

रक्षामंत्री मार्गेीटा रोबल्स ने कहा कि अपने काम में जुटी सेना की स्पेशिएलिस्ट मिलिटरी इमरजेंसी यूनिट को शव मिले थे।

उन्होंने एक टीवी कार्यक्रम के दौरान कहा,

”सेना को कुछ जगहों पर बुजुर्ग लोग परित्यक्त हालत में मिले और यहां तक कि कुछ बुजुर्ग बिस्तरों पर मृत पाए गए।”

रिपोर्ट के अनुसार, स्पेन में कोरोनावायरस के संक्रमण के बढ़ते मामले और इससे हो रही मौत बढ़ने को ध्यान में रखते हुए मेडिकल अथॉरिटीज ने करीब 6,50,000 रैपिट टेस्टिंग कीट बांटे हैं।

हमारे बारे में hastakshep

Check Also

पलाश विश्वास जन्म 18 मई 1958 एम ए अंग्रेजी साहित्य, डीएसबी कालेज नैनीताल, कुमाऊं विश्वविद्यालय दैनिक आवाज, प्रभात खबर, अमर उजाला, जागरण के बाद जनसत्ता में 1991 से 2016 तक सम्पादकीय में सेवारत रहने के उपरांत रिटायर होकर उत्तराखण्ड के उधमसिंह नगर में अपने गांव में बस गए और फिलहाल मासिक साहित्यिक पत्रिका प्रेरणा अंशु के कार्यकारी संपादक। उपन्यास अमेरिका से सावधान कहानी संग्रह- अंडे सेंते लोग, ईश्वर की गलती। सम्पादन- अनसुनी आवाज - मास्टर प्रताप सिंह चाहे तो परिचय में यह भी जोड़ सकते हैं- फीचर फिल्मों वसीयत और इमेजिनरी लाइन के लिए संवाद लेखन मणिपुर डायरी और लालगढ़ डायरी हिन्दी के अलावा अंग्रेजी औऱ बंगला में भी नियमित लेखन अंग्रेजी में विश्वभर के अखबारों में लेख प्रकाशित। 2003 से तीनों भाषाओं में ब्लॉग

नरभक्षियों के महाभोज का चरमोत्कर्ष है यह

पलाश विश्वास वरिष्ठ पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता एवं आंदोलनकर्मी हैं। आजीवन संघर्षरत रहना और दुर्बलतम की …