Home » Latest » कोविड-19 टीकाकरण में महत्वपूर्ण होगी को-विन ऐप की भूमिका
COVID-19 news & analysis

कोविड-19 टीकाकरण में महत्वपूर्ण होगी को-विन ऐप की भूमिका

कोविड-19 टीकाकरण के लिए कोविड-19 वैक्सीन इंटेलिजेंस नेटवर्क

नई दिल्ली, 19 जनवरी (इंडिया साइंस वायर): देशभर में कोविड-19 का टीकाकरण अभियान (Vaccination of COVID-19) शुरू हो गया है। लेकिन, दुनिया के इस सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की निगरानी और मूल्यांकन का काम भी अपने आप में बेहद चुनौतीपूर्ण है। टीकाकरण की पूरी प्रक्रिया को सुचारू रखने के लिए हाल ही में Co-WIN (कोविड-19 वैक्सीन इंटेलिजेंस नेटवर्क- COVID-19 Vaccine Intelligence Network) नामक एक वेब पोर्टल शुरू किया गया है। को-विन को मौजूदा इलेक्ट्रॉनिक वैक्सीन इंटेलिजेंस नेटवर्क (eVIN) मॉड्यूल के विस्तार के रूप में विकसित किया गया है। इसका उपयोग भारत में कोविड-19 टीकाकरण की योजना, कार्यान्वयन, निगरानी और मूल्यांकन के लिए एक व्यापक क्लाउड-आधारित आईटी समाधान के रूप में किया जाएगा।

दावा किया गया है कि को-विन प्रणाली इस टीकाकरण से संबंधित शुरू से अंत समाधान उपलब्ध कराने में सक्षम है।

इसमें राष्ट्रीय स्तर से लेकर टीकाकरण के स्तर तक की संपूर्ण सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली की उपयोगिताएँ शामिल हैं। यह प्रणाली यूजर्स (एडमिन, पर्यवेक्षक, वैक्सीनेटर) के निर्माण, लाभार्थियों के पंजीकरण (विस्तृत अपलोड व व्यक्तिगत पंजीकरण), सुविधाओं / नियोजन इकाई और सत्र-साइटों की योजना के साथ-साथ सत्रों की समय-सारिणी और टीकाकरण प्रक्रिया के कार्यान्वयन में उपयोगी होगी। वास्तविक समय के आधार पर को-विन प्रणाली न केवल लाभार्थियों, बल्कि राष्ट्रीय, राज्य और जिला स्तर पर भी टीकाकरण की निगरानी करेगी। यह प्रणाली राष्ट्रीय, राज्य, जिला और उप-जिला स्तर पर कोविड-19 टीकाकरण के उपयोग, अपव्यय और कवरेज की निगरानी करने में सक्षम है।

को-विन वेबसाइट की प्रमुख विशेषताएं

को-विन प्रणाली में www.cowin.gov.in वेबसाइट प्रमुखता से शामिल है, जिसका उपयोग राष्ट्रीय, राज्य एवं जिला स्तरीय प्रशासन द्वारा किया जाएगा। इस वेबसाइट की प्रमुख विशेषताओं में राज्य एवं जिला स्तरीय एडमिन का निर्माण, सुविधा/नियोजन इकाई डेटाबेस का निर्माण, वैक्सीनेटर एवं पर्यवेक्षक डेटाबेस का निर्माण, कोविड-19 टीकाकरण से संबंधित सामग्री का प्रबंधन तथा आवंटन, टीकाकरण सत्र साइटों का निर्धारण, लाभार्थियों के पंजीकरण के लिए व्यापक डेटा अपलोड, जनसामान्य द्वारा स्व-पंजीकरण और निगरानी शामिल है। को-विन ऐप लाभार्थियों के पंजीकरण में सुविधा केंद्र/नियोजन स्तर के उपयोगकर्ताओं की मदद करेगा। यह लाभार्थियों के प्रमाणीकरण / सत्यापन और सत्र के संचालन के समय सफल टीकाकरण को रिकॉर्ड करने में भी मदद करेगा। को-विन ऐप जल्दी ही प्ले स्टोर पर उपयोगकर्ताओं के लिए उपलब्ध होगा।

केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, पृथ्वी विज्ञान और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने अपने एक ट्वीट में कहा है कि

“को-विन ऐप का स्व-पंजीकरण मॉड्यूल शीघ्र जारी किया जाएगा। टीकाकरण प्रक्रिया में शामिल होने के लिए इस ऐप के माध्यम से पंजीकरण कराना अनिवार्य होगा।” उन्होंने कहा है कि लाभार्थियों को क्यू-आर कोड आधारित टीकाकरण प्रमाण पत्र को-विन ऐप पर पंजीकरण के बाद ही मिल सकेगा।

(इंडिया साइंस वायर)

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

covid 19

अजब गजब मध्यप्रदेश : जिंदगी में कभी शुमार नहीं हुए, अब मौत में भी गिनती में नहीं

संसदीय लोकतंत्र या सूचित, लोकतांत्रिक, सभ्य समाज के हर नियम, हर परम्परा को तोड़ना भाजपा …

Leave a Reply