Home » समाचार » देश » एनआरसी, एनपीआर के खिलाफ माकपा करेगी डोर-टू-डोर कैंपेन
CPIM

एनआरसी, एनपीआर के खिलाफ माकपा करेगी डोर-टू-डोर कैंपेन

CPI-M will conduct door-to-door campaign against NRC, NPR

अगरतला, 2 फरवरी 2020. नागरिकों के राष्ट्रीय रजिस्टर (एनआरसी) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (National Register of Citizens (NRC) and National Population Register) (एनपीआर) के खिलाफ मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) चार फरवरी से 48 दिनों तक घर-घर जाएगी और इसके खिलाफ जागरूकता पैदा करेगी। पार्टी की केंद्रीय समिति के सदस्य गौतम दास ने रविवार को यह जानकारी दी।

माकपा के त्रिपुरा राज्य सचिव दास के अनुसार, 48 दिनों तक चलने वाले इस डोर-टू-डोर कैंपेन का समापन भारत के तीन क्रांतिकारी नायकों भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव की शहादत के दिन 23 मार्च को होगा। तीनों क्रांतिकारियों को अंग्रेजों के शासनकाल में फांसी पर चढ़ाया गया था।

वाम नेता ने दो दिवसीय माकपा त्रिपुरा राज्य समिति की बैठक के बाद मीडिया को बताया, “संसद के भीतर और बाहर कम से कम 12 बार (गृह मंत्री) अमित शाह ने पूरे देश में एनआरसी शुरू करने की घोषणा की, अब प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने कभी ऐसा कुछ नहीं कहा। हमारे राष्ट्रव्यापी कदम के हिस्से के रूप में, हम लोगों से कहेंगे कि वे आरएसएस के शरारती जाल में ना फंसें और मोदी-अमित शाह की साजिश वास्तविक भारतीय को संदिग्ध नागरिक बनाने की है।”

हस्तक्षेप के संचालन में मदद करें!! 10 वर्ष से सत्ता को दर्पण दिखाने वाली पत्रकारिता, जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, के संचालन में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.
 
 भारत से बाहर के साथी पे पल के माध्यम से मदद कर सकते हैं। (Friends from outside India can help through PayPal.) https://www.paypal.me/AmalenduUpadhyaya

उन्होंने दावा किया कि आरएसएस मुस्लिमों और ईसाइयों को देश से बाहर निकालने का इच्छुक है और वे वैचारिक रूप से दलितों, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति समुदायों के भी खिलाफ हैं।

हस्तक्षेप के संचालन में मदद करें!! सत्ता को दर्पण दिखाने वाली पत्रकारिता, जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, के संचालन में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.
 

हमारे बारे में hastakshep

Check Also

air pollution

ठोस ईंधन जलने से दिल्ली की हवा में 80% वोलाटाइल आर्गेनिक कंपाउंड की हिस्सेदारी

80% of volatile organic compound in Delhi air due to burning of solid fuel नई …

Leave a Reply