लखनऊ होर्डिंग्स मामले में हाई कोर्ट के आदेश का माले ने स्वागत किया

CPI (ML) welcomes High Court order in Lucknow hoardings case

लखनऊ, 9 मार्च। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माले) की राज्य इकाई ने सीएए-विरोधियों की लखनऊ में लगे होर्डिंग्स मामले में इलाहाबाद हाई कोर्ट द्वारा स्वतः संज्ञान लेने और उन्हें हटाने का आदेश पारित करने का स्वागत किया है।

पार्टी ने कहा है कि अदालत का यह फैसला संविधान व नागरिक आजादी की हिफाजत को लेकर न्यायपालिका से जो जन अपेक्षा है, उसके अनुरूप है।

पार्टी राज्य सचिव सुधाकर यादव ने सोमवार को जारी बयान में उम्मीद जताई कि सरकार की संविधान-विरोधी कार्रवाइयों और जनता के लोकतांत्रिक अधिकारों पर आक्रमण के मामलों में भी उच्च न्यायपालिका का आगे भी इसी तरह का जनपक्षधर रुख कायम रहेगा।

उन्होंने कहा कि योगी सरकार द्वारा लंबे समय तक धारा 144 लगा कर धरना-प्रदर्शन और नागरिक स्वतंत्रता पर अंकुश लगाना भी अधिकारों का दुरूपयोग है और इस पर भी हाई कोर्ट को संज्ञान लेकर प्रदेश में सामान्य लोकतांत्रिक प्रक्रिया की बहाली जैसे मुद्दे को स्वतः संज्ञान में लेना चाहिए।

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Leave a Comment
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations