दिल्ली दंगा पीड़ितों और प्रभावितों के लिए राहत फंड की अपील की माकपा ने

CPI(M) appeals for relief fund for Delhi riot victims and victims

रायपुर, 11 मार्च 2020. मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने हाल ही में उत्तर-पूर्व दिल्ली के इलाकों में हुए सांप्रदायिक दंगों से पीड़ित प्रभावितों के लिए राहत फंड एकत्रित करने का आह्वान किया है। माकपा द्वारा दिल्ली में दंगा पीड़ितों और प्रभावितों के लिए बड़े पैमाने पर राहत और पुनर्वास का कार्य संचालित किया जा रहा है। अतः यह फंड चेक/डीडी के जरिये “Communist Party of India (Marxist)” के नाम पर सीधे माकपा केंद्रीय समिति कार्यालय, ए के गोपालन भवन, 27-29, भाई वीरसिंह मार्ग, गोल मार्केट, नई दिल्ली-1 के पते पर भेजा जा सकता है।

माकपा राज्य सचिवमंडल द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि इन दंगों में अभी तक 153 लोगों के हताहत होने और सैकड़ों लोगों के लापता होने की खबर है, जिसमें दोनों समुदायों के गरीब लोग ही हैं। अधिकांश असंगठित क्षेत्र के मजदूर हैं, जिनकी आजीविका और घरों को काफी नुकसान पहुंचा है।

माकपा ने आरोप लगाया है कि इन दंगों में संघी गिरोह का पूरा-पूरा हाथ था और यही कारण है कि उकसावे के लिए जिम्मेदार संघी नेताओं पर अभी तक एफआईआर तक दर्ज नहीं की गई है और इतने संवेदनशील मुद्दे पर होली का बहाना बनाकर संसद में चर्चा तक टाल दी गई है।

माकपा ने बताया कि मुस्लिम समुदाय के लोगों की जान-माल को हुए नुकसान की एफआईआर दर्ज नहीं की जा रही है और राहत कार्य को एफआईआर के साथ जोड़ दिया गया है। इससे स्पष्ट है कि सरकार दंगा प्रभावितों को राहत पहुंचाने के प्रति संवेदनहीन हैं।

माकपा के छत्तीसगढ़ राज्य सचिव संजय पराते ने आम जनता से पार्टी राहत फंड में उदारतापूर्वक सहयोग देने की अपील की है। उन्होंने बताया कि माकपा धार्मिक विश्वास के आधार पर भेदभाव किये बिना सभी दंगा पीड़ितों व प्रभावितों तक राहत पहुंचाने और उनका पुनर्वास करने की कोशिश कर रही है। उन्होंने बताया कि माकपा द्वारा पूरे प्रदेश में राहत फंड एकत्रित करने का अभियान चलाया जा रहा है।

माकपा नेता ने कहा कि छत्तीसगढ़ पार्टी के निम्न खाते में भी राहत फंड जमा किया जा सकता है और पार्टी को सूचना भेजी जा सकती है :

CPI(M), Chhattisgarh State Committee

Bank of Baroda, Pandri Branch, Raipur

Acc. No. 17380100002622,

IFSC code : BARBPAN0RAI

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations