चीन में कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 3213 हुई

Death toll from coronavirus in China rises to 3213

बीजिंग, 16 मार्च 2020. चीन में कोरोना वायरस (कोविड-19) के प्रकोप के कारण मरने वालों की संख्या (Death toll due to outbreak of Corona virus (Covid-19) in China) बढ़कर 3,213 हो गई है, जबकि एशियाई देश में कन्फर्म मामलों की संख्या बढ़कर 80,860 हो गई है। सोमवार को अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

रेडियो चाइना इंटरनेशनल के मुताबिक, 15 मार्च को चीन की मुख्य भूमि में नये कोरोना वायरस निमोनिया के 16 नए मामले सामने आये हैं। मृतकों के और 14 नए मामले आये हैं और नव संदिग्ध मामलों की संख्या 41 दर्ज हुई। उस दिन 838 नए मरीज उपचार लेकर ठीक हो गए हैं।

15 मार्च की रात 12 बजे तक, चीन की मुख्य भूमि में कोविड-19 के कुल 80860 पुष्टिकृत मामले हो चुके हैं, जबकि संदिग्ध मामलों की संख्या 134 हैं। उपचार लेकर ठीक होने वाले मरीजों की कुल संख्या 67749 तक पहुंच गई है। मृतकों की कुल संख्या 3213 तक हो गई है। वहीं, मरीजों के साथ घनिष्ठ संपर्क रखने वाले 9582 लोगों का चिकित्सा अवलोकन किया जा रहा है।

15 मार्च को चीन की मुख्य भूमि में पुष्टिकृत नए मामलों में 12 मरीज देश के बाहर से आए हैं। उस दिन की रात 12 बजे तक, दर्ज हुए कोविड-19 के 123 मामले चीन के बाहर से आए हैं।

उधर, चीन के हांगकांग, मकाओ और थाईवान तीनों क्षेत्रों में पुष्टिकृत मरीजों की संख्या 217 हैं, जो क्रमशः हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र में 148 मामले ( 84 ठीक हुए, 4 की मौत), मकाओ विशेष प्रशासनिक क्षेत्र में 10 मामले (10 ठीक हुए) और चीन के थाईवान क्षेत्र में 59 मामले (20 ठीक हुए, 1 की मौत) हैं।

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations