सीएए : नागरिकता का पता नहीं पर दिल्ली हिंसा में मरने वालों की संख्या 36 हुई

National News

Death toll in Delhi violence is 36

नई दिल्ली, 27 फरवरी 2020.  राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (National Capital Delhi) के उत्तर-पूर्वी जिले में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोधियों और समर्थकों के बीच झड़प के बाद भड़की हिंसा के पांचवें दिन मृतकों की संख्या बढ़कर 36 हो गई।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गुरु तेगबहादुर अस्पताल ने 33 और लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल ने 3 मौतों की पुष्टि की है।

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Interim President of Congress, Sonia Gandhi) के नेतृत्व में पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की और दिल्ली में हिंसा को लेकर एक ज्ञापन सौंपा। पार्टी ने राष्ट्रपति से मामले में हस्तक्षेप करने का आग्रह किया और गृह मंत्री अमित शाह को हटाने की मांग भी की।

ज्ञापन में राष्ट्रपति से आग्रह किया गया है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को हटाया जाना चाहिए, जोकि संविधान के मुताबिक अपने कर्तव्यों का पालन नहीं कर रहे हैं।

कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रपति से कहा कि उन्हें कार्रवाई करने के लिए केंद्र और राज्य सरकार दोनों को निर्देश देना चाहिए।

पाठकों सेअपील - “हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें