Home » Latest » दिल्ली : नए क्षेत्रों में स्थिति फिर बिगड़ने की अफवाह, बंद किए गए मेट्रो स्टेशन फिर खुले
Breaking news

दिल्ली : नए क्षेत्रों में स्थिति फिर बिगड़ने की अफवाह, बंद किए गए मेट्रो स्टेशन फिर खुले

Delhi: Situation worsens in new areas, Metro closes these six stations

नई दिल्ली, 01 मार्च 2020. ये देश का दुर्भाग्य है कि देश का गृह मंत्री जिसकी जिम्मेदारी आंतरिक सुरक्षा की है और जो दिल्ली पुलिस का मालिक भी है, वह जिस समय भाषण दे रहा है कि भारत अब घर में घुसकर मार सकता है, ठीक उसी समय देश की राजधानी दिल्ली में हालात फिर बिगड़ रहे हैं। ट्विटर पर लोग लगातार दिल्ली पुलिस को टैग करते हुए शांति की अपील कर रहे हैं।

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने ट्विटर पर लिखा,

“दंगा और गोलीबारी को लेकर मंगोलपुरी, सुल्तानपुरी, राजौरी गार्डन, उत्तम नगर और विजय विहार से 181 हेल्पलाइन पर अचानक शिकायतें मिल रही हैं। कई डीसीडब्ल्यू कर्मचारी इसमें फंस गए हैं।

ये क्या बकवास हो रहा है? @DelhiPolice   कृपया स्थिति पर नियंत्रण रखें!”

दिल्ली मेट्रो ने भी सुरक्षा के लिहाज से कई मेट्रो स्टेशन बंद कर दिए हैं।

दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (Delhi Metro Rail Corporation) ने ट्वीट कर जानकारी दी है,

“सुरक्षा अद्यतन

नांगलोई, सूरजमल स्टेडियम, बदरपुर, तुगलकाबाद, उत्तम नगर पश्चिम और नवादा में प्रवेश और निकास बंद है।“

अपडेट – नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने कहा है कि कुछ अराजक तत्व अफवाह फैला रहे हैं, ताकि शांति व्यवस्था में बाधा आए।

खबर के मुताबिक डीएमआरसी ने आनन-फानन में सात मेट्रो स्टेशन बंद किए जाने की घोषणा की, 15 मिनट बाद ही खुले। दिल्ली के कुछ इलाकों में हिंसा की अफवाह के बाद अफरा-तफरी, 7 मेट्रो स्टेशन कुछ देर रहे बंद। दिल्ली पुलिस ने हिंसा के दावों को अफवाह बताते हुए लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है।

हस्तक्षेप के संचालन में मदद करें!! सत्ता को दर्पण दिखाने वाली पत्रकारिता, जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, के संचालन में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.
 

हमारे बारे में hastakshep

Check Also

congress

कांग्रेस की सियासत और उसूल जब गांधीवाद पर आधारित है तो ये कांग्रेसी कैसे गांधी विरोधी संगठनों के हमराही बन जाते हैं?

कांग्रेस की सियासत और उसूल जब गांधीवाद पर आधारित है तो ये कांग्रेसी कैसे गांधी …