कोरोना वायरस के संक्रमण से पत्रकारों के दुखद अवसान पर परिवार को 25 लाख की सहायता राशि देने की मांग

Corona virus

Demand for grant of Rs 25 lakh to the family on the tragic end of journalists due to Corona virus infection

माइनॉरिटी कोऑर्डिनेशन कमिटी की ओर से गुजरात के मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा गया जिसमें मांग की गई है कि अन्य फ्रंटलाइन कर्मियों की तरह प्रेस के साथियों को भी दुखद अवसान की दशा में 25 लाख रुपए उनके परिवार को दिए जाएं।

पत्र का मजमून निम्न है।

सेवा में,

मुख्यमंत्री महोदय

गांधीनगर,गुजरात

विषय- कोरोना वायरस के संक्रमण से पत्रकारों के दुखद अवसान पर परिवार को 25 लाख की सहायता राशि देने के संबंध में,

महोदय,

आप जानते ही हैं कि देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है हमारा राज्य भी इससे बुरी तरह से प्रभावित है व गुजरात के आधे से अधिक केस अहमदाबाद में ही है। हमारे राज्य, शहर को इससे बचाने के लिए फ्रंटलाइन कर्मी के रूप में प्रेस के साथी लगातार काम कर रहे हैं व लोगों तक सही सूचनाएँ पहुंचा रहे हैं। फ्रंटलाइन कर्मियों के दुखद अवसान पर गुजरात सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग के सर्क्युलर क्रमांक- 102020-250-क दिनांक 8-4-20 के द्वारा 25 लाख की सहायता राशि परिवार को देने की घोषण की गयी है।

Coronavirus Outbreak LIVE Updates, coronavirus in india, Coronavirus updates,Coronavirus India updates,Coronavirus Outbreak LIVE Updates, भारत में कोरोनावायरस, कोरोना वायरस अपडेट, कोरोना वायरस भारत अपडेट, कोरोना, वायरस वायरस प्रकोप LIVE अपडेट, महोदय प्रेस के साथी भी अन्य फ्रंटलाइन कर्मियों की तरह बाहर निकल अपनी जान कि बाज़ी लगाकर  आम जनता को सही सूचनाए पहुंचा रहे हैं।

महोदय आपके संज्ञान में है कि कल मुंबई में 50 से अधिक प्रेस के रिपोर्टर, फॉटोग्राफर को कोरोना पॉज़िटिव डिटेक्ट हुआ है। ऐसे में एक कल्याणकारी राज्य के रूप में हमारी ज़िम्मेदारी बनती है कि राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमण से होने वाली मौत के मामले में आवश्यक सेवाओं की सूची में प्रेस के रिपोर्टर, फॉटोग्राफर आदि शामिल कर उनको भी 25 लाख की सहायता राशि देने के आदेश किए जाएँ, जिससे किसी प्रेस के साथी (कर्मी) के दुखद अवसान की दशा में उनके परिवार को उक्त सहायता राशि दी जाए।

ता- 21-4-20

भवदीय,

मुजाहिद नफ़ीस

कंवीनर

पाठकों सेअपील - “हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें