Home » हस्तक्षेप » आपकी नज़र » अमृत पर्व में लोकतंत्र को जहर दिया जा रहा है !
opinion debate

अमृत पर्व में लोकतंत्र को जहर दिया जा रहा है !

लोकतंत्र को अमृत पर्व में जहर दिया जा रहा है ! Professor Jagadishwar Chaturvedi’s comment.

अपने विरोधियों से राजनीतिक प्रतिशोध और उनको नष्ट करने के क्षेत्र में पीएम मोदी ने अभूतपूर्व कीर्तिमान स्थापित किया है। लोकतंत्र के 75 साल होने पर यानी अमृत पर्व में लोकतंत्र को यह जहर दिया जा रहा है। अब लोकतंत्र जश्न मनाने की चीज नहीं है।

ब्रिटिश शासकों और औरंगजेब के दमन के मानकों को भी कोसों पीछे छोड़ दिया है, मोदी के दमन तंत्र ने।

लोकतंत्र माने नफरत। यह है नया अर्थ, जो पीएम मोदी ने निर्मित किया है। नफरत करो, लोकतंत्र का जश्न मनाओ। दलों को नष्ट करो, लोकतंत्र का जश्न मनाओ। यह नए किस्म का अधिनायकवाद है।

Democracy is being poisoned in Amrit Parv! | प्रोफेसर जगदीश्वर चतुर्वेदी की एफबी टिप्पणी।

ED raid National Herald, Sonia Gandhi, Rahul Gandhi, monsoon session | hastakshep news point

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

हमारे बारे में जगदीश्वर चतुर्वेदी

जगदीश्वर चतुर्वेदी। लेखक कोलकाता विश्वविद्यालय के अवकाशप्राप्त प्रोफेसर व जवाहर लाल नेहरूविश्वविद्यालय छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष हैं। वे हस्तक्षेप के सम्मानित स्तंभकार हैं।

Check Also

dr. prem singh

भारत छोड़ो आंदोलन : अगस्त क्रांति और भारत का शासक-वर्ग

भारत छोड़ो आंदोलन की 80वीं सालगिरह के अवसर पर (On the occasion of 80th anniversary …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.