Home » Latest » मधुमेह के मरीजों में होता है कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा संक्रमण का खतरा : डॉक्टर अमित छाबड़ा
corona virus live update

मधुमेह के मरीजों में होता है कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा संक्रमण का खतरा : डॉक्टर अमित छाबड़ा

Diabetes patients have the highest risk of corona virus infection : Dr. Amit Chhabra

यशोदा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल कौशांबी गाजियाबाद के डॉक्टरों द्वारा जनता कर्फ्यू के लिए माँगा गया समर्थन

गाजियाबाद, 21 मार्च 2020 : यशोदा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल कौशांबी, गाजियाबाद के डायरेक्टर क्लीनिकल सर्विसेस डॉ राहुल शुक्ला ने बताया कि कोरोनावायरस के बढ़ते हुए खतरे के मद्देनजर एवं उससे बचाव हेतु प्रधानमंत्री मोदी के आह्वान पर रविवार को जनता कर्फ्यू के लिए हमारे डॉक्टरों एवं प्रबंधन स्टाफ ने सबसे सहयोग माँगा है तथा जनता कर्फ्यू का कड़ाई से पालन करने का अनुरोध किया है।

यशोदा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल कौशांबी गाजियाबाद के वरिष्ठ मधुमेह विशेषज्ञ डॉक्टर अमित छाबड़ा (Senior diabetes specialist Dr. Amit Chhabra of Yashoda Super Specialty Hospital Kaushambi Ghaziabad) ने बताया कि जैसे कि खबरें आ रही हैं कि कोरोना वायरस में सबसे ज्यादा संक्रमण का खतरा मधुमेह के मरीजों में होता है।

उन्होंने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि यह बात सही है कि मधुमेह के रोगियों में प्रतिरोधक क्षमता कम होती है ऐसे में कोरोना वायरस का उनके ऊपर आसानी से संक्रमण हो सकता है। उन्होंने कहा कि मधुमेह के मरीजों को विशेष रूप से समय ध्यान रखने की जरूरत है और अपनी सभी दवाइयों को एवं अपने खान-पान को ठीक प्रकार से रखने की आवश्यकता है और मधुमेह के रोगी विशेष रूप से सोशल डिस्टेंसिंग करें एवं अपने घरों से अभी कम से कम आने वाले 14 दिनों में जरूरत ना होने पर ना निकले।

Diabetes patients, corona virus, corona virus highest infection risk, public curfew, coronavirus in india, Coronavirus updates,Coronavirus India updates,Coronavirus Outbreak LIVE Updates,

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

Akhilesh Yadav with Sunil Singh of Hindu Yuva Vahini

दलित दिवाली की बात करने का अधिकार उन्हें नहीं जो जीत की जश्न में दलितों की बस्तियां जलाते हैं, शाहनवाज आलम का अखिलेश पर वार

दलित विरोधी हिंसा पर अखिलेश पहले दें इन 8 सवालों के जवाब लखनऊ, 9 अप्रेल …