Home » Latest » कोरोना वायरस पर आहार संबंधी जागरूकता | जानें डाइटिशियन भावना गर्ग से क्या खाएं
Mrs. Bhawna Garg

कोरोना वायरस पर आहार संबंधी जागरूकता | जानें डाइटिशियन भावना गर्ग से क्या खाएं

Dietary awareness on corona virus, learn from dietician Bhavna Garg

Increasing infection of the corona virus, note some special things in your food and diet

नई दिल्ली, 24 मार्च 2020 : यशोदा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल कौशांबी गाजियाबाद की हेड डाइटिशियन श्रीमती भावना गर्ग (Mrs. Bhawna Garg, Head Dietician of Yashoda Super Specialty Hospital Kaushambi Ghaziabad) ने कोरोना वायरस के बढ़ते हुए संक्रमण के मद्देनजर अपनी खानपान एवं आहार में कुछ विशेष बातों का ध्यान रखने के लिए बताया है।

No specific food is guaranteed to survive the corona virus

भावना गर्ग कहती हैं कि कोरोनावायरस से बचाने के लिए कोई विशिष्ट भोजन की गारंटी नहीं है, इसलिए सामान्य स्वस्थ भोजन दिशानिर्देश अभी के लिए सबसे अच्छी सलाह हैं।

पर्याप्त तरल जैसे पानी, नारियल पानी, नींबू पानी सूप आदि लेकर खुद को हाइड्रेटेड रखें। संक्रमण से लड़ने के लिए आवश्यक सूक्ष्म पोषक तत्वों में विटामिन ए, बी, सी, डी, ई और आयरन, सेलेनियम और जिंक जैसे खनिज शामिल हैं, आता है। ऐसा हार्ले जिनमें यह खनिज प्रचुर मात्रा में हो। विटामिन ए के स्रोत (Sources of vitamin a) तैलीय मछली, अंडे की जर्दी, पनीर, टोफू, नट्स, साबुत अनाज हैं।

बीटा कैरोटीन का स्रोत (Source of beta carotene) हरी, पीली और नारंगी सब्जियां हैं।

विटामिन बी के स्रोत (Sources of vitamin b) अनाज, फलियां, हरी पत्तेदार सब्जियां फल और नट्स हैं। विटामिन सी और ई कोशिका को ऑक्सीडेटिव तनाव से बचाने में मदद करता है।

विटामिन सी के स्रोत (Sources of vitamin c): संतरे, नींबू, जामुन, कीवी, टमाटर, शिमला मिर्च और ब्रोकोली।

विटामिन ई के स्रोत (sources of Vitamin E): नट्स और हरी सब्जियां और सब्जियों के तेल।

विटामिन डी: कुछ मिनटों के लिए सूरज के संपर्क में आयरन, जिंक और सेलेनियम प्रतिरक्षा सेल के विकास के लिए आवश्यक है जो मांस चिकन, मछली, फलियां वाले अनाज में पाया जाता है ।

उन्होंने कहा कि मांसाहार का उपयोग अच्छी तरह से पका करके ही करना लाभदायक है,  कच्चा मांस का सेवन बिल्कुल ना करें। आयरन के अवशोषण के लिए विटामिन सी का उचित सेवन सुनिश्चित करें। सूखे मेवे में जिंक पाया जाता है।

प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने के लिए, लहसुन, दालचीनी, हल्दी, मशरूम और दही जैसे सुरक्षात्मक खाद्य पदार्थ शामिल करें|

संक्रमण से लड़ने के लिए एक पूर्ण संतुलित आहार का पालन करना चाहिए। अपनी सकारात्मक ऊर्जा को बहाल करने के लिए शांत रहने और ध्यान करने की कोशिश करें।

उन्होंने एक बात पर जोर देते हुए कहा कि ऐसे लोग जो किसी बीमारी से ग्रस्त हों और किसी चिकित्सक की देखरेख में उनकी दवा चल रही हो, वह उनसे पूछ कर के ही अपनी खानपान एवं आहार में परिवर्तन करें, क्योंकि अगर ऐसा कोई मरीज है जिसमें पहले से ही किसी खनिज की मात्रा ज्यादा है और अगर वह आहार के माध्यम से उस मिनरल या विटामिन को और लेता है तो उसे परेशानी बढ़ सकती है।

हमारे बारे में hastakshep

Check Also

पलाश विश्वास जन्म 18 मई 1958 एम ए अंग्रेजी साहित्य, डीएसबी कालेज नैनीताल, कुमाऊं विश्वविद्यालय दैनिक आवाज, प्रभात खबर, अमर उजाला, जागरण के बाद जनसत्ता में 1991 से 2016 तक सम्पादकीय में सेवारत रहने के उपरांत रिटायर होकर उत्तराखण्ड के उधमसिंह नगर में अपने गांव में बस गए और फिलहाल मासिक साहित्यिक पत्रिका प्रेरणा अंशु के कार्यकारी संपादक। उपन्यास अमेरिका से सावधान कहानी संग्रह- अंडे सेंते लोग, ईश्वर की गलती। सम्पादन- अनसुनी आवाज - मास्टर प्रताप सिंह चाहे तो परिचय में यह भी जोड़ सकते हैं- फीचर फिल्मों वसीयत और इमेजिनरी लाइन के लिए संवाद लेखन मणिपुर डायरी और लालगढ़ डायरी हिन्दी के अलावा अंग्रेजी औऱ बंगला में भी नियमित लेखन अंग्रेजी में विश्वभर के अखबारों में लेख प्रकाशित। 2003 से तीनों भाषाओं में ब्लॉग

नरभक्षियों के महाभोज का चरमोत्कर्ष है यह

पलाश विश्वास वरिष्ठ पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता एवं आंदोलनकर्मी हैं। आजीवन संघर्षरत रहना और दुर्बलतम की …