Home » Latest » योगी जी कोरंटाइन सेंटर से बचाओ
Dinkar Kapoor Yogi Adityanath

योगी जी कोरंटाइन सेंटर से बचाओ

मुख्यमंत्री को पत्र भेज दिनकर ने सोनभद्र के कोरंटाइन सेंटर में दुर्व्यवस्था दूर करने की उठाई मांग

लोगों को मिले होम कोरंटाइन की सुविधा

सोनभद्र 19 जुलाई, 2020, जनपद में कोरेंटाइन सेंटर में व्याप्त दूर्व्यवस्था के संबंध में तत्काल कार्रवाई हेतु आज आइपीएफ नेता व वर्कर्स फ्रंट के अध्यक्ष दिनकर कपूर ने मुख्यमंत्री को पत्र भेज लोगों की प्राणों की रक्षा के लिए तत्काल कार्यवाही के लिए कहा है. इस पत्र की प्रतिलिपि मण्डलायुक्त व डीएम को भी आवश्यक कार्यवाही हेतु भेजी गई है.

पत्र में कहा गया कि अखबारों में छपी खबर के अनुसार सोनभद्र जनपद में सरकारी जिला अस्पताल में बनाए गए कोरनंटाइन सेंटर में पीने का गरम पानी, सैनिटाइजेशन, साफ सफाई, खाने के लिए रोटी, दूध एवं फल जैसे पोषक आहार आदि न्यूनतम सुविधाएं भी कोरोना से प्रभावित मरीजों को नहीं दी जा रही है.

अखबार की खबर के अनुसार महिलाओं और पुरुषों को एक ही वार्ड में रखा गया है. यह स्थिति तब है जब मुख्य सचिव के आदेश पर बाकायदा उत्तर प्रदेश सरकार के नोडल अधिकारी दो दिनों से सोनभद्र जनपद में कैंप कर रहे हैं. मुख्य सचिव के आदेश में स्पष्ट लिखा गया है कि इन नोडल अधिकारियों द्वारा स्वास्थ सुविधाओं की स्थिति का परीक्षण किया जाएगा और कोरोना महामारी से निपटने में स्वास्थ्य संबंधी सुविधाओं में क्या कमी कमजोरियां रह जा रही है जिला स्तर पर इनकी निरीक्षण किया जाएगा. लेकिन कोई कार्यवाही होती दिख नहीं रही है.

पत्र में बताया गया कि जिला अस्पताल में भर्ती इन मरीजों में रेणुकूट नगर पंचायत की चेयरमैन निशा सिंह, ठेका मजदूर यूनियन के नेता और पूर्व सभासद नौशाद, वरिष्ठ पत्रकार मनोज सिंह राणा, वरिष्ठ पत्रकार व समाजवादी आंदोलन के नेता रामजी गुप्ता, एवं पुलिस विभाग के दरोगा व सिपाही जैसे समाज के महत्वपूर्ण लोग भर्ती हैं. इन दुर्व्यवस्थाओं के संबंध में लगातार वो सोशल मीडिया पर वीडियो भी लगा रहे हैं और जिला प्रशासन से गुहार भी लगा रहे हैं. लेकिन स्थिति में कोई परिवर्तन नहीं है. इन हालात में किसी की भी असमय मृत्यु भी हो सकती है. जिसकी सीधी ज़िम्मेदारी जिला प्रशासन की होगी.

हस्तक्षेप के संचालन में मदद करें!! 10 वर्ष से सत्ता को दर्पण दिखाने वाली पत्रकारिता, जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, के संचालन में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.
 
 भारत से बाहर के साथी पे पल के माध्यम से मदद कर सकते हैं। (Friends from outside India can help through PayPal.) https://www.paypal.me/AmalenduUpadhyaya

उन्होंने कहा कि सीएम के संज्ञान में लाया गया कि क्वॉरेंटाइन सेंटर में व्याप्त इस तरह की दुर्व्यवस्थाओं के कारण ही कल इलाहाबाद हाईकोर्ट के मुख्य न्यायधीश के निर्देश पर दो न्यायाधीशों की बेंच ने होम कोरनंटाइन करने व सुविधाएं बेहतर करने के संबंध में सुनवाई भी की है और कल तक सरकार को अपना जवाब देने के लिए कहा है.

ऐसी परिस्थितियों में निवेदन किया गया कि तत्काल प्रभाव से जिला प्रशासन सोनभद्र को निर्देशित करें की वह जिला अस्पताल में व्याप्त दुर्व्यवस्था को ठीक करें और लोगों को होम कोरंटाइन होने की अनुमति दी जाए ताकि उनके प्राणों की रक्षा हो सके.

हस्तक्षेप के संचालन में मदद करें!! सत्ता को दर्पण दिखाने वाली पत्रकारिता, जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, के संचालन में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.
 

हमारे बारे में hastakshep

Check Also

Law and Justice

जानिए आत्मरक्षा या निजी रक्षा क्या है ?

Know what is self defense or personal defense? | Self defence law in india in …