Home » Latest » कोरोना वायरस के संक्रमण के मद्देनजर इस बार न खेलें होली : डॉ पीएन अरोड़ा
Dr. PN Arora, Managing Director of Yashoda Super Specialty Hospital

कोरोना वायरस के संक्रमण के मद्देनजर इस बार न खेलें होली : डॉ पीएन अरोड़ा

Don’t play Holi this time in view of Corona virus infection: Dr. PN Arora

The risk of infection with the corona virus by hugging or shaking hands is greatly increased.

गाजियाबाद, 05 मार्च 2020. यशोदा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल (Yashoda Super Specialty Hospital) के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ. पीएन अरोड़ा ने इस बार कोरोना वायरस के बढ़ते हुए संक्रमण (increasing Corona virus infection) की वजह से होली ना खेलने का निर्णय लिया है।

डॉक्टर अरोड़ा बताते हैं कि ऐसा उन्होंने इस वजह से किया है क्योंकि होली भाईचारे का त्योहार (holi festival india 2020,) है और उसमें सब एक दूसरे को गले मिलकर के होली की बधाई देते हैं और ऐसे में गले मिलने से या हाथ मिलाने से कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा बहुत ही ज्यादा बढ़ जाता है।

हॉस्पिटल के मुख्य कार्यकारी प्रबंधक डॉ सुनील डागर ने बताया कि डॉक्टर अरोड़ा के साथ-साथ यशोदा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल कौशांबी के डॉक्टरों एवं स्टाफ ने भी होली (holi festival delhi 2020) ना मनाने का निर्णय लिया है, जिनमें अस्पताल के डायरेक्टर क्लिनिकल सर्विसेज डॉक्टर राहुल शुक्ला, चिकित्सा अधीक्षक डॉ अनुज अग्रवाल, डायरेक्टर पेशेंट केयर सर्विसेज श्रीमती राधा राणा,  मुख्य प्रबंधक डॉक्टर विक्रम ग्रोवर, मुख्य  वित्त अधिकारी  मनीष शर्मा, मार्केटिंग हेड गौरव पांडे, डॉ. विकास, राहुल साहनी, संदीप झा, नेहा एवं अस्पताल के नर्सिंग एवं पैरामेडिकल स्टाफ भी शामिल हैं।

सभी ने कहा वे एक दूसरे को सोशल मीडिया के माध्यम से बधाई संदेश एवं फोन कर होली की शुभकामनाएं देंगे।

डॉक्टर अरोड़ा कहते हैं कि होली हमारे लिए एक बहुत ही शुभ एवं महत्वपूर्ण त्यौहार है किंतु देश पर संकट की इस घड़ी में हमें बुद्धिमत्ता से काम लेना चाहिए और इस निर्णय को जनहित में देखा जाना चाहिए।

हमारे बारे में hastakshep

Check Also

पलाश विश्वास जन्म 18 मई 1958 एम ए अंग्रेजी साहित्य, डीएसबी कालेज नैनीताल, कुमाऊं विश्वविद्यालय दैनिक आवाज, प्रभात खबर, अमर उजाला, जागरण के बाद जनसत्ता में 1991 से 2016 तक सम्पादकीय में सेवारत रहने के उपरांत रिटायर होकर उत्तराखण्ड के उधमसिंह नगर में अपने गांव में बस गए और फिलहाल मासिक साहित्यिक पत्रिका प्रेरणा अंशु के कार्यकारी संपादक। उपन्यास अमेरिका से सावधान कहानी संग्रह- अंडे सेंते लोग, ईश्वर की गलती। सम्पादन- अनसुनी आवाज - मास्टर प्रताप सिंह चाहे तो परिचय में यह भी जोड़ सकते हैं- फीचर फिल्मों वसीयत और इमेजिनरी लाइन के लिए संवाद लेखन मणिपुर डायरी और लालगढ़ डायरी हिन्दी के अलावा अंग्रेजी औऱ बंगला में भी नियमित लेखन अंग्रेजी में विश्वभर के अखबारों में लेख प्रकाशित। 2003 से तीनों भाषाओं में ब्लॉग

नरभक्षियों के महाभोज का चरमोत्कर्ष है यह

पलाश विश्वास वरिष्ठ पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता एवं आंदोलनकर्मी हैं। आजीवन संघर्षरत रहना और दुर्बलतम की …