Home » समाचार » दुनिया » हस्तक्षेप साहित्यिक कलरव में इस रविवार ऑस्ट्रेलिया से डॉ. भावना कुँअर का काव्यपाठ
डॉ. भावना कुँअर (Dr.Bhawna Kunwar)

हस्तक्षेप साहित्यिक कलरव में इस रविवार ऑस्ट्रेलिया से डॉ. भावना कुँअर का काव्यपाठ

नई दिल्ली, 10 सितंबर 2020. हस्तक्षेप डॉट कॉम के यूट्यूब चैनल के साहित्यिक कलरव अनुभाग (Sahityik Kalrav section of hastakshep.com ‘s YouTube channel) में इस रविवार 13 सितंबर 2020 को सुप्रसिद्ध कवयित्री डॉ. भावना कुँअर (Dr.Bhawna Kunwar) का काव्य पाठ होगा।

यह जानकारी देते हुए हस्तक्षेप साहित्यिक कलरव के संयोजक डॉ. अशोक विष्णु शुक्ला व डॉ. कविता अरोरा ने बताया कि ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में प्रवास कर रहीं डॉ. भावना कुँअर सिर्फ एक कवयित्री ही नहीं हैं बल्कि एक अच्छी चित्रकार भी हैं।

Dr Bhawna Kunwar Biography in Hindi | डॉ. भावना कुंवर की जीवनी हिंदी में

नाम ​​: डॉ. भावना कुँअर

जन्म​​ : 12 फ़रवरी, मुज़फ्फ़रनगर

निवास स्थान ​: ऑस्ट्रेलिया (सिडनी)

संपादक   : ऑस्ट्रेलियांचल ई-पत्रिका

शिक्षा​​: हिन्दी व संस्कृत में स्नातकोत्तर उपाधि, बी० एड०, पी-एच०डी० (हिन्दी) ​​​​​तीन विषयों में डिप्लोमा।

शोध-विषय ​: साठोत्तरी हिन्दी गज़लों में विद्रोह के स्वर व उसके विविध आयाम

प्रकाशित पुस्तकें ​: (11)तारों की चूनर, धूप के खरगोश ( हाइकु संग्रह),जाग उठी चुभन( सेदोका-संग्रह), परिन्दे कब लौटे (चोकासंग्रह),जरा रोशनी मैं लाऊँ (मुक्त छन्द),साठोत्तरी हिन्दी गज़ल में विद्रोह के स्वर (पी-एच०डी०का शोध प्रबन्ध), अक्षर सरिता, शब्द सरिता,स्वर सरिता, गीत सरिता (प्राथमिक कक्षाओं के लिए हिन्दी भाषा-शिक्षण की शृंखला),भाषा मंजूषा में कक्षा 7 के पाठ्यक्रम में एक यात्रा–संस्मरण।

संपादन​​: (9)चन्दनमन (हाइकु-संग्रह), भाव कलश (ताँका संग्रह), गीत सरिता (बालगीतों का संग्रह- तीन भाग), यादों के पाखी (हाइकु संग्रह), अलसाई चाँदनी (सेदोका संग्रह), उजास साथ रखना(चोका-​​ संग्रह), डॉ०सुधा गुप्ता के हाइकु में प्रकृति (अनुशीलनग्रन्थ), हाइकु काव्यः शिल्प एवं अनुभूति (एक ​​ बहुआयामी अध्ययन) ‘गीले आखर'(चोका संग्रह)।

फिल्म    “One Less God” में संवादों का अनुवाद

आर्ट प्रदर्शनी  : युगांडा, भारत और ऑस्ट्रलिया।

काव्य पाठ   : देश-विदेश में रेडियो,टेलिविजन एवं अनेक मंचों पर।

इन्टरव्यू   : ऑस्ट्रेलिया सिडनी से” दर्पण रेडियो “पर और भारत से सिटीअपडेट और अन्य कई इन्टरव्यू।

अन्य संग्रहों में प्रकाशन : कुछ ऐसा हो, सच बोलते शब्द, सदी के प्रथम दशक का हिन्दी हाइकु काव्य, आधी आबादी ​​ का आकाश, हाइकुव्योम -संग्रहों में हाइकु, कविता अनवरत-3 ( कविताएँ), दोहाकोश (490 ​​​ दोहाकारों का 488 पृष्ठ का कोश), साहित्य गुंजन, संगिनी,उत्तराखंड मिरर,शब्द प्रवाह,चौकसी, माही संदेश, गर्भनाल,कलासन दिनकर,दि मॉरल ,गोरखासंदेश,शब्द,रचनाकार,राष्ट्र समर्पण, देशान्तर. बूमरैंग -२, आभासी दुनिया के अनोखे रिश्ते,गीत गागर ।

अन्य प्रकाशन​ : उदन्ती, वीणा, वस्त्र- परिधान, अविराम, अभिनव इमरोज, सादर इण्डिया, लोक गंगा, हरिगन्धा, ​​आरोह – अवरोह, संकल्प, सरस्वती सुमन, हाइफन, हिन्दी गौरव, (सिडनी) अप्रतिम, हाइकु लोक

तारिका, नेवाः हाइकु (नेपाली) विज्ञापन की दुनिया, हिन्दी टाइम्स (कनाडा) हाइकु दर्पण, आलोकपर्व, अमर उजाला काव्य, समाज प्रवाह, हिन्दी चेतना, दिअण्डर लाइन,कल्याण पाठक मंच बुलेटिन, ई-कल्पना पत्रिका, संगिनी, माही संदेश तथाअनुभूति,अभिव्यक्ति, लघुकथा डॉट कॉम, स्वर्गविभा, साहित्य कुंज, लेखनी डॉटनेट, हिन्दीनेस्ट, कविताकोश, आखर कलश, समय, रचनाकार, सृजन गाथा, कर्मभूमि, हिन्दी-पुष्प (साउथ एशिया टाइम्स) द सन्डे इन्डियन,दिल्ली इंटरनेशनल फिल्म फेस्टेवल, स्वर्ग विभा, “हमलोग” गृहस्वामिनी, भारत-दर्शन, संगिनी, नवीन कदम (नेटपत्रिकाएँ), आदि में नियमित प्रकाशन।

सम्मान​​ : “हाइकु रत्न सम्मान” (2011) ” काविता कोष सम्मान, हिन्दुस्तानी भाषा काव्य प्रतिभा सम्मान(2018), हिन्दी रत्न सम्मान” (2019) ऑस्ट्रेलिया(सिड़नी) अमेरिकन कॉलेज ब्रिसबेन “ईप्सा एवार्ड” (2019) भोपाल में “टैगोर इंटरनेशनल लिटरेचर एंडआर्टस फेस्टेवल”में प्रवासी साहित्यकार सम्मान (2019)

पुरस्कार ​​: विश्व हिन्दी संस्थान की अंतर्राष्ट्रीय हिन्दी कविता प्रतियोगिता में तृतीय स्थान प्राप्त

सदस्य​​: संपादक समिति सिडनी से प्रकाशित “हिन्दी गौरव” मासिक पत्रिका संपादक कैनेडा से प्रकाशित -“हिन्दी चेतना” त्रैमासिक पत्रिका (पूर्व)

संप्रति ​​: स्वतन्त्र लेखन और सिडनी में सेवारत।

अभिरुचि ​: साहित्य लेखन, अध्ययन, चित्रकला एवं देश-विदेश की यात्रा करना।

तो इस रविवार 13 सितंबर 2020 हिंदी दिवस की पूर्व संध्या पर सुनना न भूलें डॉ. भावना कुँअर का काव्यपाठ। निम्न लिंक पर रिमाइंडर सेट करें और हमारा यूट्यूब चैनल भी सब्सक्राइब करें। –

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

opinion, debate

इस रात की सुबह नहीं! : गुलामी के प्रतीकों की मुक्ति का आन्दोलन !

There is no end to this night! Movement for the liberation of the symbols of …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.