दमन से नहीं रूकेगा किसान आंदोलन – आइपीएफ

दमन से नहीं रूकेगा किसान आंदोलन – आइपीएफ

Farmers movement will not stop with repression – IPF

आइपीएफ कार्यकर्ताओं ने जलाई कृषि कानूनों की प्रतियां

 लखनऊ, 5 जून 2021, संयुक्त किसान मोर्चा की तरफ से काले कृषि कानूनों के लागू होने के एक वर्ष पूरा होने पर दिए आवाहन के तहत आल इंडिया पीपुल्स फ्रंट व जय किसान आंदोलन से जुड़े मजदूर किसान मंच के कार्यकर्ताओं ने उत्तर प्रदेश के गांव-गांव में तीनों कृषि कानूनों की प्रतियां जलाकर सरकार से इसे वापस लेने और एमएसपी पर कानून बनाने की मांग की।

इस कार्यक्रम की जानकारी आइपीएफ के राष्ट्रीय प्रवक्ता व पूर्व आईजी एस. आर. दारापुरी व मजदूर किसान मंच के महासचिव डा. बृज बिहारी ने प्रेस को दी।

उन्होंने चंदौली में आइपीएफ नेता अजय राय को अलसुबह ही घर में नजरबंद करने और सोनभद्र में आइपीएफ जिला संयोजक कृपाशंकर पनिका व मजदूर किसान मंच के जिलाध्यक्ष राजेन्द्र प्रसाद गोंड़ को म्योरपुर पुलिस द्वारा गिरफ्तार करने की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि दमन के बूते मोदी और योगी सरकार किसानों के आंदोलन को नहीं रोक सकती अब यह जनांदोलन बन चुका है जिसे समाज के हर वर्ग का समर्थन मिल रहा है।

आज युवा मंच ने वर्चुअल रोजगार संवाद कार्यक्रम में प्रस्ताव लेकर किसानों के आंदोलन व उनकी मांगों का समर्थन किया।

विरोध प्रदर्शन का लखीमपुर खीरी में आइपीएफ के प्रदेश अध्यक्ष डा. बी. आर. गौतम, सीतापुर में मजदूर किसान मंच नेता सुनीला रावत, युवा मंच के नागेश गौतम, अभिलाष गौतम, लखनऊ में वर्कर्स फ्रंट अध्यक्ष दिनकर कपूर, उपाध्यक्ष उमाकांत श्रीवास्तव, एडवोकेट कमलेश सिंह, सोनभद्र में कृपाशंकर पनिका, मंगरू प्रसाद गोंड़, राजेन्द्र प्रसाद गोंड़, सूरज कोल, श्रीकांत सिंह, रामदास गोंड़, शिव प्रसाद गोंड़, महावीर गोंड,़ आगरा में आइपीएफ महासचिव ई. दुर्गा प्रसाद, चंदौली में आलोक राजभर, डा. राम कुमार राय, गंगा चेरो, रामेश्वर प्रसाद, इलाहाबाद में युवा मंच संयोजक राजेश सचान, अध्यक्ष अनिल सिंह, इंजीनियर राम बहादुर पटेल, ईशान गोयल, मऊ में बुनकर वाहनी के इकबाल अहमद अंसारी, बलिया में मास्टर कन्हैया प्रसाद, बस्ती में एडवोकेट राजनारायण मिश्र, श्याम मनोहर जायसवाल, वाराणसी में प्रदेश उपाध्यक्ष योगीराज पटेल आदि ने नेतृत्व किया। 

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner