Home » Latest » किसानों की एक इंच जमीन भी सरकार को नहीं देने देंगे : किसान सभा
Kisan Sabha Barabanki

किसानों की एक इंच जमीन भी सरकार को नहीं देने देंगे : किसान सभा

मोदी सरकार से किसानों का भला नहीं – राजेन्द्र यादव

Farmers will not allow even one inch of land to Government: Kisan Sabha

बाराबंकी, 10 अक्तूबर 2020. भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यालय का उद्घाटन आल इण्डिया किसान सभा के प्रदेश महासचिव राजेन्द्र यादव पूर्व विधायक ने किया. इस अवसर पर मुखबिर राज और आजादी के महानायक -1 तथा लोकसंघर्ष पत्रिका के विशेष अंक का विमोचन भी किया गया.

पूर्व विधायक और आल इण्डिया किसान सभा के प्रदेश महासचिव राजेन्द्र यादव ने प्रेस कान्फ्रेन्स को सम्बोधित करते हुए कहा कि ‘मोदी सरकार किसानों के सम्बंध में जिन कानूनों का निर्माण किया है उससे किसानों का कोई भला नहीं होने वाला है।” मण्डी समाप्त हो जाने के बाद किसानों को न्यूनतम लागत मूल्य मिलने के बजाय 1,200 रूपये प्रति कुन्टल धान खरीदने के लिए कोई तैयार नहीं है और आवश्यक वस्तु अधिनियम से अनाज को बाहर कर बड़े पूंजीपतियों को सस्ते दामों पर खाद्यान्न खरीद कर स्टॉक करने का जो लाइसेन्स मिल गया है उससे शहरी उपभोक्ताओं को भी महंगे दाम पर खाद्यान्न खरीदना पड़ेगा।

श्री यादव ने कहा कि सरकार ने संविदा खेती की अनुमति देकर गांव में रहने वाले 80 प्रतिशत गरीब पिछड़े लोगों से बंटाईदारी का हक छीन लिया है। कार्पोरेट सेक्टर के लोग गांव में छोटे और मंझौले किसान जो लोगों के खेत बटाई पर लेकर जीविकोपार्जन करते थे उनका जीविकोपार्जन का साधन छीन लिया है।

किसान नेता ने प्रेस कान्फ्रेन्स को सम्बोधित करते हुए कहा कि बाराबंकी जिला प्रशासन ने आज से कुछ वर्ष पूर्व बाराबंकी विकास प्राधिकरण बनाकर बाराबंकी के किसानों की जमीन छीनने का प्रयास किया था, जिसका विरोध आल इण्डिया किसान सभा के पदाधिकारी होने के नाते गांव – गांव जाकर विरोध कर उस प्रस्ताव को रद्द कराया था लेकिन योगी सरकार के आने के बाद जिला प्रशासन के अधिकारी किसानों की जमीन को छीनने के लिए बाराबंकी विकास प्राधिकरण का प्रस्ताव तैयार किया है जिसका किसान सभा भरपूर विरोध करेगी और किसानों की एक इंच जमीन भी प्राधिकरण को नहीं देने देंगे। किसान सभा आने वाले दिनों में किसानों की जमीन बचाने के लिए आन्दोलन का रास्ता अख्तियार करेगी.

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के इस कार्यक्रम के अवसर पर पार्टी के राज्य परिषद सदस्य रणधीरसिंह सुमन, पार्टी के जिला सचिव ब्रजमोहन वर्मा, सह सचिव डॉ कौसर हुसेन, शिव दर्शन वर्मा, किसान सभा के अध्यक्ष विनय कुमार सिंह, उपाध्यक्ष प्रवीन कुमार, गिरीश चन्द्र, वीरेंद्र कुमार, अमर सिंह, महेंद्र यादव, आशीष शुक्ला,रमेश वर्मा, मुनेश्वर, रामदुलारे यादव, श्याम सिंह एडवोकेट, अंकुल वर्मा सहित सैकड़ों लोग थे. प्रतिरोध प्रदर्शन किया गया.

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

Chief justice of India Sharad Arvind Bobde

जानिए जस्टिस काटजू क्यों जस्टिस बोबडे के महिला सीजेआई के सुझाव से असहमत हैं

Why Justice Katju disagreed with Justice Bobde’s suggestion नई दिल्ली, 17 अप्रैल 2021. मीडिया रिपोर्ट्स …

Leave a Reply