पारिस्थितिकी, पर्यावरण तथा विकास के बीच संतुलन बनाने पर गडकरी का जोर

पारिस्थितिकी, पर्यावरण तथा विकास के बीच संतुलन बनाने पर गडकरी का जोर

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी का पारिस्थितिकी, पर्यावरण तथा विकास के बीच संतुलन बिन्दु बनाये रखने पर जोर

Gadkari’s emphasis on striking a balance between ecology, environment and development

नई दिल्ली, 17 जून 2022. केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Union Minister for Road Transport and Highways Nitin Gadkari) ने पारिस्थितिकी, पर्यावरण तथा विकास के बीच संतुलन बिन्दु बनाये रखने पर बल दिया है।

‘औद्योगिक डिकार्बनाइजेशन सम्मेलन 2022’ (आईडीएस-2022)- 2070 तक कार्बन न्यूट्रैलिटी के लिए रोड मैप का उद्घाटन करते हुए श्री गडकरी ने कहा कि बिजली की कमी को दूर करने के लिए, वैकल्पिक ईंधनों का विकास करना अनिवार्य है।

उन्होंने कहा कि इन मुद्दों पर अव्यवस्थित एकतरफा दृष्टिकोण देश के लिए लाभदायक नहीं है।

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की एक विज्ञप्ति के मुताबिक श्री गडकरी ने कहा कि आने वाले दिनों में, हमें अपनी अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ बनाना है और इसके साथ-साथ पर्यावरण की भी रक्षा करनी है।

ग्रीन हाइड्रोजन हमारी प्राथमिकता है

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हमारी प्राथमिकता ग्रीन हाइड्रोजन है, जैव प्रौद्योगिकी का उपयोग करके हम बायोमास की उत्पादकता बढ़ा सकते हैं तथा बायोमास का उपयोग करने के माध्यम से हम बायो-एथनौल, बायो-एलएनजी तथा बायो-सीएनजी बना सकते हैं।

उन्होंने कहा कि मेथनौल तथा एथनौल के उपयोग से प्रदूषण में कमी आएगी।

श्री गडकरी ने कहा कि एक केंद्रित रोड मैप बनाया जाना चाहिए तथा पर्याप्त शोध किया जाना चाहिए जिससे कि हम अपने आयातों में कमी ला सकें तथा निर्यात बढ़ा सकें।

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.