खूनी खेल के तमाशबीन ! भारत भी क्या प्राचीन बर्बरता को अपना कर नाजीवाद की दिशा में बढ़ चुका है !

खूनी खेल के तमाशबीन ! भारत भी क्या प्राचीन बर्बरता को अपना कर नाजीवाद की दिशा में बढ़ चुका है !

सऊदी अरब में आज की दुनिया की सबसे बर्बर राजशाही (World’s most barbaric monarchy) चल रही है। इसकी एक पहचान है रियाद शहर का डेरा स्क्वायर (Deera Square of Riyadh City)। इसे कटाई स्क्वायर ( chop chop square) भी कहा जाता है। यहाँ हर हफ़्ते नियत दिन अपराधियों के अंगों और सर की भी कटाई होती है। कुछ ख़ास अपराधियों के सर काट कर प्रदर्शनी के तौर पर लटका दिये जाते हैं। व्याभिचार के नाम पर औरतों की पत्थर मार कर हत्या की जाती है। इस साल अर्थात् 2019 में वहाँ अब तक एक सौ से ज़्यादा लोगों के सर काटे जा चुके हैं।

मज़े की बात यह है कि उस स्क्वायर में आदमी की कटाई का तमाशा देखने के लिये हर हफ़्ते बड़ी संख्या में लोग जुटते हैं और तालियाँ बजा कर वीभत्स ढंग से नाचा करते हैं।

भारत में जो लोग पुलिस एनकाउंटर से बलात्कारियों की हत्या (Police encounter kills rapists) पर अभी उछल-कूद कर रहे हैं, जिनमें अभी बंदूक़ की नल के प्रति अतिरिक्त प्यार उमड़ रहा हैं, जो चमकदार लोग लिंचिंग करने वालों में अपना नाम लिखाने के लिये उतावले हैं, वे रियाद के डीरा स्क्वायर में जमा होने वाली और आदमी की कटाई पर नाचने-झूमने वाली बर्बर लोगों की भीड़ से क्या अलग लोग हैं ?

Arun Maheshwari – अरुण माहेश्वरी, लेखक सुप्रसिद्ध मार्क्सवादी आलोचक, सामाजिक-आर्थिक विषयों के टिप्पणीकार एवं पत्रकार हैं। छात्र जीवन से ही मार्क्सवादी राजनीति और साहित्य-आन्दोलन से जुड़ाव और सी.पी.आई.(एम.) के मुखपत्र ‘स्वाधीनता’ से सम्बद्ध। साहित्यिक पत्रिका ‘कलम’ का सम्पादन। जनवादी लेखक संघ के केन्द्रीय सचिव एवं पश्चिम बंगाल के राज्य सचिव। वह हस्तक्षेप के सम्मानित स्तंभकार हैं।

Game of making man a man-eater

दुनिया में राजशाही का इतिहास (History of monarchy in the world) बर्बर नादिरशाही संस्कृति का भी इतिहास रहा है जब जनता में खून के खेल का उन्माद भरा जाता था। लोग आदमी के खून के फव्वारे देखने के लिये पागल रहते थे। यह आदमी को आदमखोर बनाने का खेल रहा है। आधुनिक तकनीक के युग में राजशाही का नया रूप नाजीवाद और फासीवाद भी राष्ट्रवाद के नाम पर ऐसे ही खूनी समाज का निर्माण किया करता है।

क़ानून के जनतांत्रिक शासन को छोड़ भारत भी क्या आज उसी प्राचीन बर्बरता को अपना कर नाजीवाद की दिशा में बढ़ चुका है !

अरुण माहेश्वरी

Note : Deera Square is a public space in Riyadh, Saudi Arabia, in which public executions take place. It is sometimes known as Al-Safaa Square, Justice Square and colloquially called Chop Chop Square. After Friday prayers, police and other officials clear the area to make way for the execution to take place.

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Leave a Comment
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations