भविष्य से आँख भी मिला पाएँ, इसलिए उठिए और बोलिए

भविष्य से आँख भी मिला पाएँ, इसलिए उठिए और बोलिए

कुछ बोलिए 

संतुलन न बिगड़ जाए

कुछ बोलिए

अंधेरा न बढ़ता रहे

कुछ बोलिए

भविष्य न हो मलिन

कुछ बोलिए

देश की आहुति न हो

कुछ बोलिए

कीट के काटने पर तो चुप थे

सर्पदंश पर तो कुछ बोलिए

जहर, मार दे देह को लकवा

उससे पहले ही कुछ बोलिए

वर्तमान, डरावना भूत न बने

इसलिए कुछ तो बोलिए

भविष्य से आँख भी मिला पाएँ

इसलिए उठिए और बोलिए।

अनिल सोडानी

Corona virus In India
Latest
Videos
अंतरिक्ष विज्ञान
आज़मगढ़
आपकी नज़र
उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022
कानून
कृषि
खेल
गैजेट्स
ग्लोबल वार्मिंग
चौथा खंभा
जलवायु परिवर्तन
जलवायु विज्ञान
झारखंड समाचार
तकनीक व विज्ञान
दुनिया
देश
धर्म-समाज-त्योहार
पटना समाचार
पर्यटन
पर्यावरण
प्रकृति
बिहार समाचार
भोपाल समाचार
मध्य प्रदेश समाचार
मनोरंजन
मुंबई समाचार
युवा और रोजगार
यूपी समाचार
राजनीति
राज्यों से
लखनऊ समाचार
लाइफ़ स्टाइल
वैज्ञानिक अनुसंधान
व्यापार व अर्थशास्त्र
शब्द
संसद सत्र
समाचार
सामान्य ज्ञान/ जानकारी
साहित्यिक कलरव
स्तंभ
स्वास्थ्य
हस्तक्षेप

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.