माइक से अज़ान पर रोक का मामला : पत्रकारों के फोन क्यों नहीं उठा रहे डीएम गाजीपुर – शाहनवाज़ आलम

स्थानीय भाजपा नेताओं के दबाव में काम कर रहे हैं ग़ाज़ीपुर डीएम -शाहनवाज़ आलम

Ghazipur DM is working under pressure from local BJP leaders – Shahnawaz Alam

लखनऊ, 26 अप्रैल 2020। कांग्रेस ने ग़ाज़ीपुर ज़िला अधिकारी (Ghazipur District Magistrate) पर बिना किसी शासनादेश के स्थानीय भाजपा और संघ के नेताओं के दबाव में माइक से अज़ान पर रोक लगाने का आरोप (Mike holds off on Ajan) लगाया है।

कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के प्रदेश चेयरमैन शाहनवाज़ आलम ने जारी बयान में कहा है कि कल दोपहर में मुस्लिम समाज के साथ बैठक के बाद डीएम ओम प्रकाश आर्य ने सेहरी और अफ्तार के वक़्त मस्जिद से माइक द्वारा ऐलान की बात मान ली थी। लेकिन शाम होते-होते वो फिर अपने वादे से मुकर गए और पुलिस जगह-जगह जाकर माइक से अज़ान न देने की धमकी देने लगी, जो साबित करता है कि ग़ाज़ीपुर डीएम क़ानून के बजाए स्थानीय भाजपा और संघी नेताओं के दबाव में काम कर रहे हैं जो ओहदे के लिए शर्मनाक है।

शाहनवाज़ आलम ने कहा कि ग़ाज़ीपुर डीएम की स्थानीय भाजपा नेताओं के आगे निरीहता का अंदाज़ा इसी से लगाया जा सकता है कि ज़िले के एसपी ओम प्रकाश सिंह मीडिया में माइक से अज़ान न होने देने के किसी भी आदेश से ही इनकार कर ख़ुद डीएम ओम प्रकाश आर्य को झूठा साबित कर रहे हैं और डीएम सवाल पूछने वाले पत्रकारों का फ़ोन नहीं उठा रहे हैं, जो साबित करता है कि उनके पास अपने सनक पर उठने वाले सवालों का जवाब नहीं है।

शाहनवाज़ आलम ने डीएम ग़ाज़ीपुर से अपील की है कि स्थानीय भाजपा नेताओं के दबाव में आने के बजाए साहस का परिचय दें और जिस तरह प्रदेश भर में अज़ान हो रहे हैं उसी तरह ग़ाज़ीपुर में भी होने दें।

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Leave a Comment
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations