Home » Latest » गूगल डूडल : स्पेशल डूडल के साथ लीप ईयर मना रहा है गूगल
Google

गूगल डूडल : स्पेशल डूडल के साथ लीप ईयर मना रहा है गूगल

Google doodle: Google celebrating leap year with special doodle

नई दिल्ली, 29 फरवरी 2020. दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन गूगल आज विशेष डूडल के साथ लीप ईयर (Leap Year) मना रहा है। लीप ईयर वह साल होता है जिसमें एक दिन अतिरिक्त होता है। हर चार साल के बाद यह दिन 29 फरवरी के रूप में हमारे कैलेंडर में दिखता है।

गूगल (Google) हर खास दिन को अपने विशेष डूडल से मनाता है। इसीलिए आज गूगल डूडल में लीप डे (Leap Day) को दिखाया गया है।

क्या होता है लीप डे What is leap day

लीप डे (leap day IN hINDI) हर चार साल में आने वाले लीप इयर में आता है। यह दिन 29 फरवरी का होता है। पिछला लीप डे 2016 में था। लीप डे हमारे कैलेंडर के पृथ्वी और सूर्य की चाल से तालमेल बनाए रखने के लिए जरूरी होता है।

गूगल डूडल : स्पेशल डूडल के साथ लीप ईयर मना रहा है गूगल
गूगल डूडल : स्पेशल डूडल के साथ लीप ईयर मना रहा है गूगल

अगला लीप ईयर सन् 2024 में

आज गूगल ने अपने डूडल में लोगो बदला है और इसमें 28, 29, और 1 अंक दिखाया गया है जो फरवरी और मार्च के बीच हर चार साल में आने वाले एक अतिरिक्त दिन यानी कि 29 फरवरी को दर्शाता है। अगला लीप ईयर अब सन् 2024 और सन् 2028 में होगा। पिछला लीप ईयर साल 2016 में था।

साल का सबसे छोटा महीना फरवरी

लीप ईयर वह साल होता है जिसमें 366 दिन होते हैं। लीप डे के कारण ही फरवरी को साल का सबसे छोटा महीना कहा जाता है।

हस्तक्षेप के संचालन में मदद करें!! 10 वर्ष से सत्ता को दर्पण दिखाने वाली पत्रकारिता, जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, के संचालन में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.  भारत से बाहर के साथी पे पल के माध्यम से मदद कर सकते हैं। (Friends from outside India can help through PayPal.) https://www.paypal.me/AmalenduUpadhyaya

गूगल ने समझाते हुए कहा,

‘हमें लीप ईयर की जूरूरत इसलिए ताकि कैलेंडर का संतुलन पृथ्वी द्वारा सूर्य का चक्कर लगाने पर बना रहे। ऐसा न होने पर हर साल इसमें 6 घंटे का फर्क आ जाएगा’।

जानिए कितने समय में पृथ्वी लगाती है सूर्य का चक्कर Know how long the earth revolves around the sun

आमतौर पर यह माना जाता है कि धरती सूर्य का पूरा चक्‍कर 365 दिन में लगाती है, लेकिन सच यह है कि धरती का खगोलीय वर्ष 365.25 दिन का होता है, यानि धरती 365 दिन और 6 घंटे में सूरज का एक चक्‍कर पूरा करती है।

हस्तक्षेप के संचालन में मदद करें!! सत्ता को दर्पण दिखाने वाली पत्रकारिता, जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, के संचालन में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.
 

हमारे बारे में hastakshep

Check Also

Akhilendra Pratap Singh

भारत-चीन टकराव : मौजूदा सत्ता प्रतिष्ठान की इसके हल में कोई दिलचस्पी नहीं है

India-China Conflict: The current power establishment is not interested in its solution 7 जुलाई 2020 …