Home » Latest » हितग्राहियों के घरों तक निःशुल्क राशन पहुंचाए सरकार
CPIM

हितग्राहियों के घरों तक निःशुल्क राशन पहुंचाए सरकार

Government should provide free ration to the houses of the beneficiaries

Raipur news in Hindi, Lock down news in Hindi, Relief Package in Hindi, CPI(M) news in Hindi.

रायपुर, 26 मार्च 2020. मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने सामाजिक-आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों को दो माह का अग्रिम राशन दिए जाने के निर्णय का स्वागत करते हुए सरकार से मांग है कि यह राशन हितग्राहियों के घरों तक निःशुल्क पहुंचाया जाए तथा यह सुनिश्चित किया जाये कि इस वितरण में किसी भी प्रकार का घपला/घोटाला न हो।

आज यहां जारी एक बयान में माकपा राज्य सचिव संजय पराते ने कहा है कि जिस सख्ती से सरकार लॉक डाउन को लागू कर रही है, उससे राशन लेने जैसा अत्यावश्यक कार्य करना भी मुश्किल हो रहा है। आदिवासी इलाकों में लोगों को राशन लेने के लिए औसतन 10-15 किमी. की दूरी तय करनी पड़ती है और बस्तर में तो पुलिस और सुरक्षा बलों की अनुमति के बिना उनका घर से बाहर निकलना भी मुश्किल हो गया है।

माकपा नेता ने अपने बयान में एक बार फिर कहा है कि बिना सामाजिक-आर्थिक सुरक्षा उपलब्ध कराए सोशल डिस्टेंसिंग के मकसद को कामयाब नहीं किया जा सकता। इसके लिए आम जनता की तकलीफों के प्रति राज्य सरकार और प्रशासन को संवेदनशील होना होगा। इसी संदर्भ में उन्होंने यह मांग की है कि राशन हितग्राहियों के घरों तक निःशुल्क पहुंचाया जाए।

हमारे बारे में hastakshep

Check Also

पलाश विश्वास जन्म 18 मई 1958 एम ए अंग्रेजी साहित्य, डीएसबी कालेज नैनीताल, कुमाऊं विश्वविद्यालय दैनिक आवाज, प्रभात खबर, अमर उजाला, जागरण के बाद जनसत्ता में 1991 से 2016 तक सम्पादकीय में सेवारत रहने के उपरांत रिटायर होकर उत्तराखण्ड के उधमसिंह नगर में अपने गांव में बस गए और फिलहाल मासिक साहित्यिक पत्रिका प्रेरणा अंशु के कार्यकारी संपादक। उपन्यास अमेरिका से सावधान कहानी संग्रह- अंडे सेंते लोग, ईश्वर की गलती। सम्पादन- अनसुनी आवाज - मास्टर प्रताप सिंह चाहे तो परिचय में यह भी जोड़ सकते हैं- फीचर फिल्मों वसीयत और इमेजिनरी लाइन के लिए संवाद लेखन मणिपुर डायरी और लालगढ़ डायरी हिन्दी के अलावा अंग्रेजी औऱ बंगला में भी नियमित लेखन अंग्रेजी में विश्वभर के अखबारों में लेख प्रकाशित। 2003 से तीनों भाषाओं में ब्लॉग

नरभक्षियों के महाभोज का चरमोत्कर्ष है यह

पलाश विश्वास वरिष्ठ पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता एवं आंदोलनकर्मी हैं। आजीवन संघर्षरत रहना और दुर्बलतम की …