ग्रेटा थुनबर्ग: जलवायु संकट पर ‘हम गलत दिशा में जा रहे हैं’

ग्रेटा थुनबर्ग: जलवायु संकट पर ‘हम गलत दिशा में जा रहे हैं’

Greta Thunberg: ‘We are speeding in the wrong direction’ on the climate crisis

नई दिल्ली, 11 दिसंबर 2020. पेरिस समझौते के पांच साल पूरा होने पर पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थुनबर्ग ने कहा है कि जलवायु संकट पर ‘हम गलत दिशा में जा रहे हैं’

लगभग तीन मिनट के एक वीडियो में ग्रेटा थुनबर्ग ने कहा कि पेरिस समझौता 5 साल का हुआ, हमारे नेताओं ने अपने ‘आशाजनक’ दूर के काल्पनिक लक्ष्य, ‘शुद्ध शून्य’ कमियां और खाली वादे पेश किए। लेकिन असली उम्मीद लोगों से मिलती हैं, दूर की प्रतिबद्धताओं और खाली वादों से नहीं जो हम विश्व नेताओं से सुन रहे हैं।

ग्रेटा टिनटिन एलोनोरा एर्मन थुनबर्ग एक स्वीडिश पर्यावरण कार्यकर्ता हैं जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जलवायु परिवर्तन के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने के लिए विश्व के नेताओं को चुनौती देने के लिए जानी जाती हैं।

उन्होंने एक संदेश में कहा कि

“एकजुट होने और जागरूकता फैलाने दें। एक बार जब हम जागरूक हो जाते हैं, तब हम कार्य कर सकते हैं। फिर बदलाव आएगा। यह समाधान है। ”

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner