हस्तक्षेप साहित्यिक कलरव में इस रविवार डॉ. सीता सागर का “एक मन कितना अकेला है”

Dr. Sita Sagar KAVI SAMELLAN,Dr. Sita Sagar poetry recital,Sita Sagar Kavi,Sita Sagar Kavita,Sita Sagar poet,Best songs of Kavi Sita Sagar,काव्य पाठ,सीता सागर का काव्य पाठ,काव्य पाठ हिंदी में,हिंदी काव्य पाठ,साहित्यिक कलरव,हस्तक्षेप काव्य पाठ,साहित्य सभा,साहित्य गोष्ठी,कविता पाठ,Poetry recitation in Hindi,Hindi Poetry recitation,Intervention poetry recitation,Sahitya Sabha,Sahitya symposium,Poem recitation,Saahityik Kalrav,Sahitya Tak

नई दिल्ली, 09 जुलाई 2020. हस्तक्षेप डॉट कॉम के यूट्यूब चैनल के साहित्य अनुभाग साहित्यिक कलरव में इस रविवार सुप्रसिद्ध कवयित्री डॉ. सीता सागर का काव्य पाठ होगा।

यह जानकारी देते हुए ‘हस्तक्षेप साहित्यिक कलरव’ के संयोजक डॉ. अशोक विष्णु व डॉ. कविता अरोरा ने बताया कि डॉ. सीता सागर मंचीय कविता का सक्षक्त हस्ताक्षर हैं और देश भर में कवि सम्मेलनों के साथ-साथ हिन्दी अकादमी दिल्ली द्वारा आयोजित गणतंत्र दिवस पर लाल क़िले पर राष्ट्रीय कवि सम्मेलनों में लगभग एक दर्जन बार काव्यपाठ कर चुकी हैं। वर्तमान में वह एमएमएच कालेज ग़ाज़ियाबाद में एसोसिएट प्रोफ़ेसर व सदस्य सलाहकार समिति हिन्दी अकादमी दिल्ली (दिल्ली सरकार ) हैं।

एमए, पीएचडी व संगीत में प्रभाकर डॉ. सीता सागर को 2004 को विश्व विद्यालय अनुदान आयोग भारत सरकार द्वारा रिसर्च प्रोजेक्ट के लिये रिसर्च अवार्ड मिल चुका है।

काव्य के क्षेत्र में अनेकों साहित्यिक संस्थाओं द्वारा सम्मानित डॉ. सीता सागर को हिन्दी काव्य लेखन व हिन्दी प्रचार प्रसार में योगदान के लिये रेल मंत्रालय व भारत सरकार द्वारा दो बार मानार्थ पास कार्ड देकर सम्मानित कर चुकी है।

2003 में काव्यपाठ के लिये वह तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी द्वारा प्रधान मंत्री आवास पर भी सम्मानित हो चुकी हैं।

गृहमंत्रालय भारत सरकार द्वारा आयोजित कार्यक्रमों में जम्मू, श्री नगर व लेह में सेना के जवानों के समक्ष काव्यपाठ का चुकीं डॉ. सीता सागर के अनेक पत्र पत्रिकाओं में शोध लेख एंव कवितायें प्रकाशित हो चुके हैं।

भारत सरकार के विदेश मंत्रालय से संबद्ध “इन्डियन काउंसिल फॉर कल्चरल रिलेशन“ द्वारा इंग्लैण्ड के सात शहरों में काव्यपाठ कर चुकीं चॉ. सीता सागर अमेरिका, इण्डोनेशिया, थाईलैण्ड, इंग्लैण्ड, मलेशिया, यूएई, शारजाह, हॉलैन्ड, स्विट्ज़रलैंड, नेपाल, सिंगापुर, मस्कट, जर्मनी आदि-आदि देशों में अनेकों बार काव्यपाठ कर चुकी हैं।

यह जानकारी देते हुए डॉ. कविता अरोरा ने कहा कि सावन लग गया है। हस्तक्षेप साहित्यिक कलरव के पौधे की नन्हीं कलाइयाँ हरे रंग पहन कर खनक रहीं हैं। शाखें हरियाई फूल खिले तो रिमझिम फुहारों बीच एक बुलबुल चहकने लगी।

मोतियों सी बूंदों में भीगे रंग बिरंगे फूल बुद्धिनाथ मिश्र, सुभाष वसिष्ठ, सुरेन्द्र शर्मा, दिनेश प्रभात व व लक्ष्मी शंकर बाजपेयी जैसे कवि/गीतकार अभी तक हस्तक्षेप साहित्यिक कलरव के मंच की शोभा बढ़ा चुके हैं। इसी कड़ी में इस रविवार 12 जुलाई 2020 को हस्तक्षेप साहित्यिक कलरव के मंच पर डॉ. सीता सागर, जिन्हें अटल बिहारी बाजपेयी, सुषमा स्वराज और धर्मवीर भारती जैसी देश की महान शख़्सियतें सुनने को आतुर रहा करती थीं, अपना रचनापाठ करेंगी।

तो इस रविवार 12 जुलाई 2020 को डॉ. सीता सागर के साथ हस्तक्षेप डॉट कॉम के यूट्यूब चैनल के साहित्य अनुभाग साहित्यिक कलरव में ठीक शाम 4 बजे मिलते हैं, लिंक निम्न है, रिमाइंडर सेट करें।

पाठकों सेअपील - “हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें