जानिए कैसे बनें नेत्र सहायक (ऑप्थैल्मिक टेक्नीशियन) और क्या हैं रोजगार की संभावनाएं

eyes

How to become an ophthalmic assistant  

एक समय था जब लोग रोजगार के लिए परेशान हुआ करते थे। लेकिन आज का दौर है कि यहां पर रोजगार तो है लेकिन उस रोजगार के लिए जरूरी योग्यता वाले लोग नहीं हैं। इस वजह से गुणवत्ता  के साथ प्रोडक्टिविटी भी प्रभावित हो रही है। आइए आपको इस आलेख में एक ऐसे प्रोफेशनल कोर्स से अवगत कराते हैं जिसे करके आप एक योग्यता के साथ उस रोजगार को हासिल करने के प्रबल दावेदार बन जाएंगे जिसे सिर्फ आपकी जरूरत है।

All about Ophthalmic Technician Course related to Paramedical Field

हम बात कर रहे हैं पैरामेडिकल फील्ड से जुड़े ऑप्थैल्मिक टेक्नीशियन कोर्स की। ऑप्थैल्मिक टेक्नीशियन  (नेत्र सहायक) वह व्यक्ति होता है जो एक आप्थैलमोलाजिस्ट यानी कि आंखों के डॉक्टर के साथ काम करता है। देश में कई सारे सरकारी व गैर सरकारी संस्थानों से आप यह कोर्स कर सकते हैं। इस कोर्स की सबसे बड़ी खासियत ये है कि इसे करने के बाद कोई बेरोजगार नहीं रह सकता। इसकी वजह ये है कि पैरामेडिकल फील्ड के तहत आने वाले इस तरह के टेक्निशियन की भरपूर मांग है। अवसर इस क्षेत्र में तेजी के साथ बढ़ रहे हैं।

Approved course from National Skill Development Council

खास बात यह कि ये कोर्स नेशनल स्किल डेवलपमेंट काउंसिल से अप्रूव्डब हैं तो ऐसे में अगर आपका सपना कभी डॉक्टर बनने का था और वह पूरा नहीं हुआ है तो यह एक अवसर है जिसके जरिए आप अपने सपने को आधा तो पूरा ही कर सकते हैं।

कैसे बनें ऑप्थैल्मिक टेक्नीशियन : How to become an Ophthalmic Technician

ऑप्थैल्मिक टेक्नीशियन बनने के लिए आपको डिग्री या डिप्लोमा कोर्स करना जरूरी है। डिप्लोमा कोर्स दो साल का होता है। एक ऑप्थैल्मिक असिस्टेंट का काम (Ophthalmic Assistant’s work) आंखों की डायग्नोसिस के साथ साथ ट्रीटमेंट व बचाव का प्रशिक्षण दिया जाता है।

इसके अलावा क्लिनिकल डाटा इकट्ठा करना, रोगी के रिकॉर्ड को व्यवस्थित करने का जिम्मा  होता है। ऑप्थैल्मिक के तहत कई तरह के आंखों से संबंधित क्लींनिकल फंक्शन किए जाते हैं। ऑप्थैल्मिक असिस्टेंट आई डॉक्टर को रोगी के इतिहास, विभिन्न तरह के तकनीकी और जांच में मदद करता है। आंख की किसी भी समस्या  से जूझ रहे व्यक्ति के लिए ऑप्थैल्मिक टेक्नीशियन, डॉक्टर के साथ एक महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है।

ऑप्थैल्मिक टेक्नीशियन क्या योग्यता होनी चाहिए : What qualification should the Ophthalmic Technician

डीपीएमआई की प्रिंसिपल अरूणा सिंह के मुताबिक इस कोर्स को करने के लिए अभ्यर्थी को कम से कम 12वीं पास होना चाहिए जिसमें उसने फिजिक्स, केमिस्ट्री्, बायोलॉजी जैसे विषयों को पढ़ा हो। इसके लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाती है जिसमें फिजिक्स, केमिस्ट्री्, बायोलॉजी और अंग्रेजी में पास होना बेहद जरूरी है। इसके अलावा रेटिनोस्कोपी, आंखों से संबंधित बीमारी का पता होना, लेंस की जानकारी, फ्रेम कैसेट तैयार करना है, आई कैंप के आयोजन की जानकारी होनी जरूरी है।

ऑप्थैल्मिक टेक्नीशियन कोर्स के दौरान क्या पढ़ें : What to read during Ophthalmic Technician Course

कांट्रैक्टौ और रिफ्रैक्टिव सर्जरी, ग्लूरकोमा ट्रीटमेंट, पीडियाट्रिक आप्थैमोलाजी, मेडिकल रेटिना आप्थैमोलाजी (Contractou and refractive surgery, glaucoma treatment, pediatric ophthalmology, medical retinal ophthalmology) और न्यूरो आप्थैमोलाजी जैसे क्षेत्र शामिल हैं।

इस कोर्स के तहत लेंसोमेटरी, ऑक्यूलर फार्माकोलॉजी, केराटोमेटरी, आई मसल्स, रेफ्राक्टोमेटरी, विजुअल एक्युमेट्री वगैरह पढ़ाया जाता है, डिप्लोमा इन ऑप्थैलमॉजी (Diploma in ophthalmology) दो वर्ष का कोर्स है। पहले सेमेस्टर में एक वर्ष तक थ्योरी एवं प्रैक्टिकल कराया जाता है, फिर 6 महीने तक मोबाईल यूनिट के जरिए प्रशिक्षण दिया जाता है, और अगले 6 महीने प्राइमरी हेल्थ क्लिनिक में प्रशिक्षण दिया जाता है। डिप्लोमा इन ऑप्थैलमॉजी कोर्स में 17 से 35 वर्ष तक की उम्र के अभ्याकर्थी एडमिशन ले सकते हैं।

डिप्लोमा इन ऑप्थैलमॉजी कोर्स करने के बाद क्या हैं रोजगार के अवसर : What are the employment opportunities after doing Diploma in Ophthalmology course

डिप्लोमा इन ऑप्थैलमॉजी कोर्स करने के बाद सरकारी व गैर सरकारी आई सेंटर्स, हास्पिटल, हेल्थ केयर सेंटर्स, इंस्टीट्यूट, मेडिकल कॉलेज, ऑप्रेरशन थियेटर, लेजर आई सर्जरी क्लिक आदि में रोजगार पा सकते हैं, तजुर्बे के बाद आप खुद का आई सेंटर या खुद का क्लिनिक भी खोल सकते हैं।

डिप्लोमा इन ऑप्थैलमॉजी कोर्स कराने वाले प्रमुख संस्थान – Major institutes offering diploma in Ophthalmology courses

दिल्ली  पैरामेडिकल एंड मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट, नई दिल्ली

www.dpmiindia.com

शिवालिक इंस्टीट्यूट, ऑफ पैरामेडिकल टेक्नोलॉजी, चंडीगढ़

पैरामेडिकल कॉलेज, दुर्गापुर, पश्चिम बंगाल

www.paramedicalcollege.org

भारती विद्यापीठ डीम्ड यूनिवर्सिटी मेडिकल कॉलेज, पुणे (Bharathi Vidyapeeth Deemed University Medical College, Pune)

विजयनगर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, बेल्लारी, बेंगलुरु (Vijayanagar Institute of Medical Sciences, Bellary, Bangalore)

उमा रावत

(देशबन्धु)

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

Leave a Reply