Advertisment

कैसे मिले स्लिप्ड डिस्क से आसानी से छुटकारा

author-image
hastakshep
27 Feb 2020
लाइफस्टाइल बदलने और डायबिटीज की वजह से बढ़ रहे है किडनी के मरीज

How to get rid of slip disk easily

Advertisment

नई दिल्ली : आज कल अधिकांश लोगों में कमर दर्द की शिकायत (Back pain complaint) बड़ी आम हो चली है। विशेषज्ञ इसके कई कारण बता रहे हैं। लेकिन एक बड़ा कारण आज की आधुनिक जीवनशैली है।

What are the causes of back pain?

आप का कोई न कोई परिचित कमर दर्द से परेशान अवश्य मिल जायेगा। आखिर यह कमर दर्द क्या है? और इसके क्या-क्या कारण हैं?

Advertisment

इसके उत्तर में नई दिल्ली स्थित सर गंगा राम अस्पताल के वरिष्ठ न्यूरो एंड स्पाइन डिपार्टमेंट के डायरेक्टर डॉ. सतनाम सिंह छाबड़ा (Dr. Satnam Singh Chhabra, Director, Senior Neuro and Spine Department, Sir Ganga Ram Hospital, New Delhi) के अनुसार रीढ़ की हड्डी में प्रत्येक दो वर्टिब्रा के बीच में एक डिस्क होती है जो कि एक शॉक-एब्जॉर्बर (Shock absorber) का कार्य करती है। घिस जाने पर यह डिस्क बड़ी हो कर बाहर निकल आती है और इस कारण से कमर के निचले हिस्से में भंयकर दर्द होता है। यह दर्द दोनों पैरों में भी जा सकता है।

आजकल अधिकतर लोगों (विशेषत: युवाओं) में डिस्क (कमर) दर्द की शिकायत एक आम बात हो गई है। डिस्क (कमर) दर्द का मुख्य कारण आजकल की अनियमित दिनचर्या है। डिस्क (कमर) दर्द आगे झुकने से, वजन उठाने से, झटका लगने से, गलत तरीके से उठने-बैठने व सोने से, व्यायाम के अभाव से एवं पेट आगे निकलने के कारण भी डिस्क (कमर) दर्द हो सकता है। वास्तव में मानव के रीढ़ की बनावट ही है जिसकी वजह से कि वह इस धरती पर राज कर रहा है।

Pin hole surgery : The best treatment of back pain today

डॉ. सतनाम सिंह छाबड़ा के अनुसार कमर दर्द का आज की तारीख में सबसे बेहतर इलाज है पिन होल सर्जरी (Pin hole surgery)। पहले मरीज को हफ्तों अस्पताल में रहना पड़ता था और महीनों आराम की सलाह दी जाती थी। लेकिन नई उपलब्धियों के कारण अब डिस्क (कमर) दर्द का इलाज लेसर डिस्केटॉमी द्वारा सफलतापूर्वक किया जा सकता है। इस तकनीक द्वारा उन रोगियों का इलाज भी सफलतापूर्वक किया जा सकता है जिन्हें सामान्य इलाज से कोई राहत नहीं मिलती। सबसे बड़ी बात है कि यह पूरा ऑपरेशन केवल 15 मिनट में खत्म हो जाता है तथा उसी समय मरीज ऑपरेशन टेबल से उठकर अपने पैरों के बल ऑपरेशन रूम से बाहर आता है और अगले दिन अपने काम पर वापस लौट जाता है।

Advertisment
सदस्यता लें