Home » हस्तक्षेप » आपकी नज़र » अगर अदालत सरकार की बोली बोलने लगे तो इन्साफ कौन करेगा ?
The Supreme Court of India. (File Photo: IANS)

अगर अदालत सरकार की बोली बोलने लगे तो इन्साफ कौन करेगा ?

If the court starts speaking the government’s bid then who will do justice?

अदालते आलिया कह रही है कि दंगे की सुनवाई बाद में होगी, पहले छात्र दंगा करना बंद करें.

छात्र कह रहे हैं कि अनजान लोगों ने आगजनी और तोड़-फोड़ की है. पुलिस ने उन्हें रोका नहीं. बीबीसी पत्रकार खुद यही कह रही है, जिसका कैमरा पुलिस ने छीन लिया. गार्ड यही कह रहे हैं. कुलपति भी यही कह रही हैं.

लेकिन अदालत मान चुकी है कि दंगा छात्र कर रहे हैं.

क्योंकि सरकार कह रही है.

अगर अदालत सरकार की बोली बोलने लगे तो इन्साफ कौन करेगा. राष्ट्रीय मीडिया सरकार की बोली बोलने लगे तो सचाई कैसे सामने आएगी. पुलिस सरकार की बोली बोलने लगे तो क़ानून का राज कैसे चलेगा.

लेकिन आज अदालत-मीडिया-पुलिस सब सरकार की बोली बोल रहे हैं.

और सरकार बोल रही है कि वो कपड़ों से समझ जाती है कि दोषी कौन है!.

जो अपने सादा कपड़ों के चलते बेरोजगार छात्र नजर आते हैं, दोषी वही हैं. जिनके पास दस करोड़ का सूट नहीं, दोषी वही हैं.

जो गरीब है, नौजवान है, दोषी वही है.

देश भर के छात्र इस नाइंसाफी के ख़िलाफ़ लोकतांत्रिक तरीकों से आवाज़ उठा रहे हैं. लोकतांत्रिक विरोध हर किसी का बुनियादी हक है. आज ही इस हक के इस्तेमाल का सही समय है.

आशुतोष कुमार

(प्रो. आशुतोष कुमार, दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रोफेसर हैं। उनकी एफबी टिप्पणी )

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

Santosh Anand Live

बहुत ही स्वाभिमानी और सशक्त व्यक्तित्व के स्वामी हैं मशहूर गीतकार संतोष आनंद

मशहूर गीतकार संतोष आनंद 21/02/2021 को इंडियन आइडल के शो (Famous lyricist Santosh Anand on …

Leave a Reply