Home » Latest » अगर घर ही लक्ष्मण-रेखा है, तो मोदीजी किसान अपने खेत जा सकता है कि नहीं ? ये देश 21 दिन के लॉकडाउन के लिये तैयार नहीं
Narendra Modi in anger

अगर घर ही लक्ष्मण-रेखा है, तो मोदीजी किसान अपने खेत जा सकता है कि नहीं ? ये देश 21 दिन के लॉकडाउन के लिये तैयार नहीं

If the house itself is Laxman-Rekha, then Modiji farmer can go to his field or not? This country is not ready for 21 days lockdown

ये देश 21 दिन के #लाकडाउन के लिये तैयार नहीं है।

सबसे बड़ी बात, ये सरकार 130 करोड़ जनता को, रोज़मर्रा को सुविधायें मुहैया कराते हुए, दिहाड़ी मज़दूरों तक बुनियादी सुविधायें पहुंचाते हुए, किसानों की फसल की कटाई/ बिक्री गारंटी करते हुए, लोकतांत्रिक ढंग से, घर में रखने के काबिल नहीं है! सरकारी मशीनरी/ लेखपाल, ब्लाक/ तहसील अधिकारी/ प्रधानों इत्यादि का भ्रष्टाचार 100 गुना बढ़ जायेगा!

अमरेश मिश्र (Amaresh Mishra) लेखक वरिष्ठ पत्रकार, इतिहासकार व फिल्म पटकथा लेखक हैं।उच्च वर्ग ने तो घर में सामान स्टोर कर लिया है! पर किसानों और गरीबों पर ज़ुल्म बढ़ेगा, क्यूंकि यहां की पुलिस को जरूरी सेवाओं वाले लोगों और अन्य में फर्क करने की ट्रेनिंग है ही नहीं! पत्रकारों तक को तो दिल्ली में पुलिस पीट देती है!

अगर घर ही लक्ष्मण-रेखा है, तो किसान अपने खेत जा सकता है कि नही–ये भी साफ नहीं है!

अमरेश मिश्रा

(लेखक वरिष्ठ पत्रकार व इतिहासकार हैं। वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरुद्ध चुनाव लड़ चुके हैं।)

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

world aids day

जब सामान्य ज़िंदगी जी सकते हैं एचआईवी पॉजिटिव लोग तो 2020 में 680,000 लोग एड्स से मृत क्यों?

World AIDS Day : How can a person living with HIV lead a normal life? …