भड़क गईं प्रियंका, योगी को लताड़ा, कहा- योगी चाहें तो भाजपा का बैनर लगाकर चला लें कांग्रेस की बस… देखें वीडियो

नई दिल्ली, 19 मई 2020. नई दिल्ली. प्रवासी मजदूरों के लिए कांग्रेस द्वारा बस चलाने के मामले पर यूपी सरकार की ओछी राजनीति का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। अब कांग्रेस महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने इस मसले पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को आड़े हाथ लेते हुए कहा है कि उत्तर प्रदेश सरकार ने अब हद कर दी है।

श्रीमती ने ट्वटीट कर कहा कि जब राजनीतिक परहेजों को परे करते हुए त्रस्त और असहाय प्रवासी भाई बहनों को मदद करने का मौका मिला तो दुनिया भर की बाधाएँ सामने रख दिए।

इसके साथ ही प्रियंका ने योगी आदित्यनाथ को टैग करते हुए कहा है कि योगी जी चाहें तो इन बसों पर भाजपा का बैनर और पोस्टर लगा कर चला दीजिए। लेकिन हमारे सेवा भाव को मत ठुकराइये।

उन्होंने ट्वीट किया,

“उप्र सरकार का खुद का बयान है कि हमारी 1049 बसों में से 879 बसें जाँच में सही पायीं गईं। ऊँचा नागला बॉर्डर पर आपके प्रशासन ने हमारी 500 बसों से ज्यादा बसों को घंटों से रोक रखा है। इधर दिल्ली बॉर्डर पर भी 300 से ज्यादा बसें पहुँच रही हैं। कृपया इन 879 बसों को तो चलने दीजिए..”

उन्होंने ट्वीट किया

“..हम आपको कल 200 बसें की नयी सूची दिलाकर बसें उपलब्ध करा देंगे। बेशक आप इस सूची की भी जाँच कीजिएगा।

लोग बहुत कष्ट में हैं। दुखी हैं। हम और देर नहीं कर सकते।”

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations