Home » Latest » मोदीजी की बत्ती गुल करने की अपील नहीं मानेंगे ये सरकारी विभाग, भेजा एसएमएस कहा आवास के मेन स्विच को बन्द न करें
#CoronavirusLockdown, #21daylockdown , coronavirus lockdown, coronavirus lockdown india news, coronavirus lockdown india news in Hindi, #कोरोनोवायरसलॉकडाउन, # 21दिनलॉकडाउन, कोरोनावायरस लॉकडाउन, कोरोनावायरस लॉकडाउन भारत समाचार, कोरोनावायरस लॉकडाउन भारत समाचार हिंदी में, भारत समाचार हिंदी में,

मोदीजी की बत्ती गुल करने की अपील नहीं मानेंगे ये सरकारी विभाग, भेजा एसएमएस कहा आवास के मेन स्विच को बन्द न करें

Power grid operators scramble to prepare for Modi’s ‘lights off’ plan

Some government departments will not consider Prime Minister Narendra Modi’s call to lights off for nine-minute at 9 pm (#9baje9minute). Sent SMS said do not close the main switch of the residence

नोएडा, 05 अप्रैल 2020 . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रात्रि 9 बजे नौ मिनट दीया जलाने के आह्वान को (#9baje9minute) कुछ सरकारी विभाग नहीं मानेंगे। इस संबंध में बाकायदा एक एसएमएस भेजकर बिजली उपभोक्ताओं से कहा गया है कि ये आव्हान सिर्फ आवासों की लाईट को बंद करने हेतु है।

AD-BIJLI एकाउंट से एक कॉमर्शियल एसएमएस बेजा गया है, जिसका मजमून निम्न है –

“माo प्रधानमंत्री जी द्वारा दिनांक 05.04.2020 को रात 09:00 बजे से 09:09 बजे तक केवल आवासों की लाईट को बंद करने हेतु आह्वाहन किया गया है।

विद्युत ग्रिड इस विद्युत भार के परिवर्तन को वहन करने में सक्षम एवं सुदृढ़ है। आवासों के अन्य उपकरण इस अवधि में कार्यरत रह सकते हैं। आवास के मेन स्विच को बन्द न करें।

स्ट्रीट लाईट एवं अन्य आवश्यक सेवाओं यथा चिकित्सालय, पुलिस थाना एवं जन उपयोगी सेवा संस्थानों में विद्युत उपयोग उपरोक्त अवधि में जारी रहेगा।“

यह भी पढ़ना न भूलें

#9baje9minute : पहले से ही हम घोर संकट में हैं तब मोदीजी एक नया संकट जानबूझकर क्यों पैदा किया गया है

अगर मोदी सरकार का लक्षित राजनीतिक निवेश सफल रहा, तो स्वास्थ्य कर्मचारियों के बुरे दिन शुरू हो जाएंगे

कोरोना का कहर : यूरोप और अमेरिका में मुक्त बाजार से महाविनाश शुरू हो गया है, गांव और किसान बचे रहेंगे तो भारत न यूरोप और न अमेरिका बनेगा

कोरोना से लड़ने के नाम पर पांच अप्रैल को दिया जलाने का आह्वान अवैज्ञानिक, अंधविश्वास फैलाने वाला : माले

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

world aids day

जब सामान्य ज़िंदगी जी सकते हैं एचआईवी पॉजिटिव लोग तो 2020 में 680,000 लोग एड्स से मृत क्यों?

World AIDS Day : How can a person living with HIV lead a normal life? …