मोदीजी की बत्ती गुल करने की अपील नहीं मानेंगे ये सरकारी विभाग, भेजा एसएमएस कहा आवास के मेन स्विच को बन्द न करें

Power grid operators scramble to prepare for Modi’s ‘lights off’ plan

Some government departments will not consider Prime Minister Narendra Modi’s call to lights off for nine-minute at 9 pm (#9baje9minute). Sent SMS said do not close the main switch of the residence

नोएडा, 05 अप्रैल 2020 . प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रात्रि 9 बजे नौ मिनट दीया जलाने के आह्वान को (#9baje9minute) कुछ सरकारी विभाग नहीं मानेंगे। इस संबंध में बाकायदा एक एसएमएस भेजकर बिजली उपभोक्ताओं से कहा गया है कि ये आव्हान सिर्फ आवासों की लाईट को बंद करने हेतु है।

AD-BIJLI एकाउंट से एक कॉमर्शियल एसएमएस बेजा गया है, जिसका मजमून निम्न है –

“माo प्रधानमंत्री जी द्वारा दिनांक 05.04.2020 को रात 09:00 बजे से 09:09 बजे तक केवल आवासों की लाईट को बंद करने हेतु आह्वाहन किया गया है।

विद्युत ग्रिड इस विद्युत भार के परिवर्तन को वहन करने में सक्षम एवं सुदृढ़ है। आवासों के अन्य उपकरण इस अवधि में कार्यरत रह सकते हैं। आवास के मेन स्विच को बन्द न करें।

स्ट्रीट लाईट एवं अन्य आवश्यक सेवाओं यथा चिकित्सालय, पुलिस थाना एवं जन उपयोगी सेवा संस्थानों में विद्युत उपयोग उपरोक्त अवधि में जारी रहेगा।“

यह भी पढ़ना न भूलें

#9baje9minute : पहले से ही हम घोर संकट में हैं तब मोदीजी एक नया संकट जानबूझकर क्यों पैदा किया गया है

अगर मोदी सरकार का लक्षित राजनीतिक निवेश सफल रहा, तो स्वास्थ्य कर्मचारियों के बुरे दिन शुरू हो जाएंगे

कोरोना का कहर : यूरोप और अमेरिका में मुक्त बाजार से महाविनाश शुरू हो गया है, गांव और किसान बचे रहेंगे तो भारत न यूरोप और न अमेरिका बनेगा

कोरोना से लड़ने के नाम पर पांच अप्रैल को दिया जलाने का आह्वान अवैज्ञानिक, अंधविश्वास फैलाने वाला : माले

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Leave a Comment
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations