क्या सत्यपाल मलिक की चेतावनी से रद्द हुए तीन कृषि कानून!

क्या सत्यपाल मलिक की चेतावनी से रद्द हुए तीन कृषि कानून!

क्या मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक द्वारा दी गई चेतावनी तीन कृषि कानूनों को रद्द करने के लिए जिम्मेदार है?

Is the stern warning given by Meghlaya Governor Satya Pal Malik responsible for the withdrawal of three farm laws?

क्या मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक द्वारा दी गई चेतावनी (Warning given by Meghalaya Governor Satya Pal Malik) तीन कृषि कानूनों को रद्द करने के लिए जिम्मेदार है?

दिनांक 8 नवंबर को ‘इंडियन एक्सप्रेस’ के दिल्ली संस्करण के पृष्ठ 12 पर प्रकाशित भाषण में मलिक ने कहा था “परसों दो जनरलों ने बताया था कि किसानों का आंदोलन सेना को प्रभावित कर रहा है. कुछ भी हो सकता है”.

उन्होंने आगे कहा “आज आप तख्त पर हो और घमंड में सब कुछ कर रहे हो. आप नहीं जानते परिणाम क्या होगा”.

अपने भाषण में उन्होंने यह भी कहा कि “मैं बहुत गुस्से में हूं। मैं प्रधानमंत्री से मिला था. मैंने उनसे कहा था कि आप परिस्थिति नहीं समझ रहे हैं. इन सिक्खों को कोई नहीं हरा सकता. इन जाटों को भी कोई नहीं हरा सकता. क्या आप इन्हें खाली हाथ घर भेज सकते हैं? आपको अंततः इनकी मांग माननी पड़ेगी। देश में इतना बड़ा आंदोलन कभी नहीं हुआ”.

– एल. एस. हरदेनिया

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner