उप्र में जनता कर्फ्यू की अवधि सोमवर सुबह 6 बजे तक बढ़ी, रात में अधिकारियों संग बैठक करेंगे सीएम योगी

Janata curfew in Uttar Pradesh extends till 6 in the morning, CM Yogi will meet with officials at night

लखनऊ, 22 मार्च 2020 : उत्तर प्रदेश में जनता कर्फ्यू (Janata curfew in Uttar Pradesh) को सोमवार सुबह छह बजे तक बढ़ा दिया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोगों से अपील की है कि रविवार रात को नौ बजे के बाद भी घरों से न निकलें। कोरोना वायरस के संक्रमण से उत्तर प्रदेश के फिलहाल 27 लोग प्रभावित हैं।

गोरखपुर में प्रवास कर रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपील की है कि प्रदेश के लोग आज(रविवार) रात नौ बजे के बाद भी घर से न निकलें।

मुख्यमंत्री ने कहा है कि आने वाले दिनों में भी जनता कर्फ्यू के लिए तैयार रहना होगा। वहीं प्रदेश में जनता कर्फ्यू की मियाद बढ़ा दी गयी है। यह अब रविवार सुबह सात बजे से लेकर अगले दिन सोमवार छह बजे लागू रहेगा।

मुख्यमंत्री ने रात में नौ बजे से बाद शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक भी करने का निर्णय लिया है। माना जा रहा है कि रात में होने वाली बैठक में उत्तर प्रदेश के तीन शहरों को 31 मार्च तक लॉकडाउन करने का निर्णय भी हो सकता है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर कहा,

“आपने, जनता जनार्दन, व्यापारिक एवं सामाजिक संगठनों ने माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर जनता कर्फ्यू में अपनी सहभागिता की है, मैं आप सबका हृदय से धन्यवाद देता हूं। महामारी का खतरा समाप्त नहीं हुआ है, बचाव अत्यंत महत्वपूर्ण है।”

योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि आने वाले दिनों में भी जनता कर्फ्यू के लिए तैयार रहना होगा।

मुख्यमंत्री रविवार रात 9.30 बजे एक महत्वपूर्ण बैठक करेंगे। माना जा रहा है कि इस बैठक के बाद कुछ बड़े ऐलान हो सकते हैं।

योगी फिलहाल गोरखपुर में हैं। शाम को राजधानी लखनऊ लौटने के बाद वे राज्य के तमाम बड़े अधिकारियों और मंत्रियों के साथ बैठक करेंगे।

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations