काटजू के इस नए आरोप से रंजन गोगोई की उड़ जाएगी रातों की नींद और दिन का चैन

नई दिल्ली, 24 जनवरी 2020. अपने बेबाक बयानों के लिए पहचाने जाने वाले सर्वोच्च न्यायालय के अवकाश प्राप्त न्यायाधीश जस्टिस मार्कंडेय काटजू (Justice Markandey Katju, retired judge of the Supreme Court) ने अब सर्वोच्च न्यायालय के अवकाशप्राप्त मुख्य न्यायाधीश जस्टिस रंजन गोगोई (Justice Ranjan Gogoi, Retired Chief Justice of India) के ऊपर जो तगड़ा जुबानी वार किया है उससे रंजन गोगोई की रातों की नींद और दिन का चैन उड़ जाएगा।

दरअसल जस्टिस काटजू ने अपने सत्यापित फेसबुक पेज सीजेआई गोगोई द्वारा यौन उत्पीड़न की खबर पर लिखा था और ट्वीट किया था कि

“अंततः उस महिला कर्मचारी को बहाल कर दिया गया है, जिसका सीजेआई गोगोई द्वारा यौन उत्पीड़न किया गया और उसके परिवार को प्रताडित किया गया। ऐसा कोई दुर्गुण नहीं था, जो रंजन गोगोई में न हो। और फिर भी यह धूर्त और बदमाशियों का पुंज सीजेआई बन गया। यह हमारी न्यायपालिका के बारे में सब कुछ बताता है।

हरि ओम“

“हस्तक्षेप” ने यह खबर प्रकाशित की थी।

जस्टिस काटजू के इस ट्वीट पर सुप्रीम कोर्ट में एडवोकेट ऑन रिकॉर्ड, आर्बिट्रेटर साइबर लॉ विशेषज्ञ, मीडिया कानून, मिक्स वॉयस के संस्थापक व मिक्स वॉयसेस एनजीओ की संस्थापक धृति कपाड़िया (Dhruti M Kapadia) ने सवाल किया, “क्या यह सच था ???”

इस पर जस्टिस काटजू ने उत्तर दिया,

“गोगोई के दामाद तन्मय मेहता से पूछें कि सगाई करने से पहले उनकी आय क्या थी और बाद में क्या हो गयी? गोगोई के संबंधी न्यायमूर्ति वाल्मीकि मेहता के स्थानांतरण की सिफारिश कैसे रद्द हो गई? जस्टिस नंदराजोग को सुप्रीम कोर्ट में पदोन्नत करने की सिफारिश क्यों रद्द की गई?”

जस्टिस काटजू के इन ताबड़तोड़ हमलों से जस्टिस रंजन गोगोई की मुश्किले बढ़ सकती हैं अगर सरकार ईमानदारी से कार्रवाई करे।

 

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Leave a Comment
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations