Home » समाचार » देश » बाल ठाकरे के साथ दिखा करीम लाला, इमरजेंसी में जेल गए वरिष्ठ पत्रकार ने पूछा क्या कहेंगे बड़बोले राउत ?
Karim Lala posing with Bal Thackeray

बाल ठाकरे के साथ दिखा करीम लाला, इमरजेंसी में जेल गए वरिष्ठ पत्रकार ने पूछा क्या कहेंगे बड़बोले राउत ?

Karim Lala posing with Bal Thackeray, senior journalist jailed in Emergency, asked, what would you say, Badbole Raut?

नई दिल्ली, 16 जनवरी 2020. शिवसेना सांसद संजय राउत ने बुधवार को दावा किया था कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी मुंबई में पुराने डॉन करीम लाला से मिली थीं। राउत ने लोकमत मीडिया समूह के पुरस्कार समारोह के दौरान एक इंटरव्यू में यह दावा किया था। अब प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया के सदस्य और आपातकाल में जेल गए वरिष्ठ पत्रकार जय शंकर गुप्त ने करीम लाला का बाल ठाकरे के साथ फोटो पोस्ट करते हुए पूछा है कि इस पर संजय राऊत क्या कहेंगे।

श्री गुप्त ने अपने फेसबुक टाइमलाइन पर लिखा,

“इंदिरा गांधी कभी हमारा आदर्श नहीं रहीं। हमारी किशोरावस्था और जवानी का अधिकतर हिस्सा उनका और उनकी सरकारों का विरोध करते ही बीता। कई बार जेल भी गये। उनकी पुलिस की मार भी खाये। लेकिन हमारे मित्र, शिवसेना के बड़बोले नेता संजय राउत ने इंदिरा गांधी के बंबई (अभी मुंबई) के डॉन रहे तस्कर करीम लाला के साथ बंबई में मिलने या मिलते रहने की बात गले नहीं उतर रही। हालांकि संजय ने अपना बयान वापस लेकर उसके लिए खेद व्यक्त किया है, उन्हें इस तरह की गंभीर बात कहने से पहले उसके पक्ष में सबूत पेश करने के साथ ही उसके फलाफल के बारे में भी सोचना चाहिए था। कुल मिलाकर एक तस्वीर ही सामने आई है जिसमें श्रीमती गांधी करीम लाला के साथ दिख रही हैं। इस तस्वीर में एक तीसरे सज्जन भी दिख रहे हैं।

दरअसल, यह तस्वीर 1973 में राष्ट्रपति भवन में पद्म पुरस्कार वितरण के समय की बताई जा रही है।

तीसरे सज्जन हैं प्रसिद्ध डाक्टर एवं फिल्म अभिनेता रहे डा. हरेंद्रनाथ भट्टाचार्य को पद्मभूषण पुरस्कार मिलने के समय करीम लाला भी उनके साथ गया था। इंदिरा गांधी वहां तत्कालीन प्रधानमंत्री के बतौर थीं। उसी समय की यह तस्वीर है। लेकिन संजय राउत का बयान और यह तस्वीर सामने आते ही भाजपा और उसके बयान वीरों को इंदिरा गांधी, कांग्रेस और मुंबई के अंडरवर्ल्ड के घनिष्ठ रिश्तों पर आक्रामक होने का अवसर दे दिया।

भाजपा के लोग भूल गये कि अंडर वर्ल्ड और माफिया सरगना के साथ लिंक सामने आने के कारण ही भाजपा के बड़े नेता एकनाथ खडसे को मंत्री पद और विधानसभा का टिकट गंवाना पड़ा। नारायण राणे और गिरीश महाजन के नाम भी अंडरवर्ल्ड के साथ रिश्तों के कारण विवाद का विषय बने।

और फिर अगर तस्वीर ही इंदिरा गांधी और करीमलाला के रिश्तों का प्रमाण है तो भाजपा के लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के साथ पंजाब नेशनल बैंक को हजारो करोड़ रु. का चूना लगाने वाले नीरव मोदी की दावोस वाली तस्वीर के बारे में क्या कहेंगे और संजय राउत इस तस्वीर पर क्या कहेंगे जिसमें करीम लाला और बाल ठाकरे एक साथ दिख रहे हैं।“

बता दें कि करीम लाला, मस्तान मिर्जा उर्फ हाजी मस्तान और वरदराजन मुदलियार मुंबई के शीर्ष माफिया सरगनाओं में थे जो 1960 से लेकर अस्सी के दशक तक सक्रिय रहे।

गैंगस्टर करीम लाला से मिली थीं इंदिरा गांधी ? संजय राऊत ने अपने बयान पर गोदी मीडिया को लताड़ा

पाठकों से अपील

“हस्तक्षेप” जन सुनवाई का मंच है जहां मेहनतकश अवाम की हर चीख दर्ज करनी है। जहां मानवाधिकार और नागरिक अधिकार के मुद्दे हैं तो प्रकृति, पर्यावरण, मौसम और जलवायु के मुद्दे भी हैं। ये यात्रा जारी रहे इसके लिए मदद करें। 9312873760 नंबर पर पेटीएम करें या नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके ऑनलाइन भुगतान करें

 

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

united nations secretary general antónio guterres

वैश्विक टीकाकरण अभियान ही कोरोना महामारी को रोकने का उपाय : संयुक्त राष्ट्र प्रमुख

Global vaccination campaign is the only way to stop the epidemic: UN chief UN Secretary-General’s …

Leave a Reply