Home » समाचार » तकनीक व विज्ञान » गैजेट्स » केजरीवाल ने मोदी से कहा दिल्ली को “विश्व स्तरीय शहर” बनाएंगे तो सोनम कपूर ने पूछा पॉल्यूशन फ्री का क्या हुआ ?
Sonam K Ahuja सोनम कपूर

केजरीवाल ने मोदी से कहा दिल्ली को “विश्व स्तरीय शहर” बनाएंगे तो सोनम कपूर ने पूछा पॉल्यूशन फ्री का क्या हुआ ?

Kejriwal asked Modi to make Delhi a “world class city”, Sonam Kapoor asked what happened to the pollution free?

नई दिल्ली, 12 फरवरी 2020. आम आदमी पार्टी ने तीसरी बार दिल्ली में प्रचण्ड बहुमत की सरकार बना ली है, लेकिन चुनाव पूर्व जो वादे किए गए थे, उनको पूरा करने का दबाव अभी से अरविन्द केजरीवाल के ऊपर है। चुनाव से पहले प्रदूषण एक गंभीर मसला रहा, जिस पर आप और भाजपा में खूब वाक् युद्ध भी हुआ था। दिल्ली सरकार ने ऑड-ईवन फार्मूला लागू किया और दिल्ली में प्रदूषण के लिए पंजाब और हरियाणा के किसानों द्वारा जलाई जाने वाली पराली को जिम्मेदार ठहराया। लेकिन अब जब चुनाव परिणाम आ गए हैं तो केजरीवाल पर जननिगरानी शुरू हो गई है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अरविन्द केजरीवाल को जीत की बधाई देते हुए ट्वीट किया,

“दिल्ली विधानसभा चुनावों में जीत के लिए AAP और श्री @ArvindKejriwal जी को बधाई। दिल्ली के लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने में उन्हें बहुत शुभकामनाएं।”

इसके उत्तर में अपनी विनम्रता दर्शाते हुए केजरीवाल ने उत्तर दिया,

“थैंक यू सो मच सर। मैं केंद्र के व्यापक सहयोग से अपनी राजधानी को वास्तव में एक विश्व स्तरीय शहर बनाने के लिए तत्पर हूं।”

इस पर अभिनेत्री सोनम कपूर आहूजा ने पूछ लिया,

“और प्रदूषण मुक्त। ❤️’

हालांकि इस पर केजरीवाल की ट्रोल आर्मी ने सोनम को ट्रोल भी किया। सोनम के सवाल को जलवायु परिवर्तन, पर्यावरण और स्वच्छ ऊर्जा पर काम करने वाली दिल्ली की निगरानी संस्था क्लाइमेट ट्रेंड्स की निदेशिका आरती खोसला ने भी रिट्वीट किया।

बता दें कि विधानसभा चुनाव से पहले ‘क्लीन एयर मैनिफेस्टो’ के साथ विभिन्न संस्थाओं ने मिलकर ‘दिल्ली धड़कने दो’ कैंपेन शुरू किया था। दिल्ली के नागरिकों और सिटीजन ग्रुप्स ने 30 विभिन्न स्थानों का दौरा कर लोगों को वायु प्रदूषण संबंधी अपने अनुभव, कहानियां और शिकायतें साझा करने और ‘प्रतीकात्मक’ रूप से दिल्ली में स्वच्छ हवा के लिए ‘वोट’ करने की अपील की थी।  दिल्ली के आवासीय कल्याण संघों के शीर्ष निकाय यूनाइटेड रेजिडेंट्स ज्वाइंट एक्शन (ऊर्जा-URJA) माई राइट टू ब्रीथ (My Right to Breathe) और चिंतन जैसे नागरिक नेतृत्व समूहों ने राष्ट्रीय राजधानी में 30 विधानसभा क्षेत्रों से संपर्क कर 225,000 दिल्लीवासियों से हस्ताक्षर एकत्र किए थे, जो साफ़ हवा के लिए फौरी कार्रवाई की मांग कर रहे थे।


हमारे बारे में hastakshep

Check Also

Shailendra Dubey, Chairman - All India Power Engineers Federation

विद्युत् वितरण कम्पनियाँ लॉक डाउन में निजी क्षेत्र के बिजली घरों को फिक्स चार्जेस देना बंद करें

DISCOMS SHOULD INVOKE FORCE MAJEURE CLAUSE TOSAVE FIX CHARGES BEING PAID TO PRIVATE GENERATORS IN …

Leave a Reply