जानिए क्या है आरोग्य सेतु एप, क्या कोरोना से लड़ने में है ये मददगार ?

Know what is Arogya Setu app, is it helpful in fighting Corona?

नई दिल्ली, 14 अप्रैल 2020: सरकार बार-बार ‘आरोग्य सेतु एप’ डाउनलोड करने का आग्रह कर रही है। यह एप कोरोनावायरस को नियंत्रित करने और उसकी जानकारी सामान्य लोगों तक पहुंचाने के लिए बनाया गया है। यह खास एप आसपास मौजूद कोरोना पॉजिटिव लोगों के बारे में पता लगाने में भी मदद करेगा।

डाउनलोड किए जाने के बाद यह एप पूछता है कि क्या आपको खांसी, बुखार या सांस लेने में परेशानी आदि है। यदि आपको ऐसी कोई समस्या नहीं है, तो आप ग्रीन जोन में रहेंगे।

This app tells to keep blue tooth and location on

यह एप ब्लू टूथ और लोकेशन को ऑन रखने को कहता है। जब भी आप किसी भीड़ भाड़ वाले स्थान पर जाते हैं। यह एप ब्लू टूथ से आस पास के मोबाइल से संदेश लेता देता रहता है। जब आप किसी के पास खड़े हैं और पास खड़ा व्यक्ति भी ग्रीन जोन वाला नार्मल व्यक्ति ही है पर अगर वह व्यक्ति आज से 10 दिनों बाद किसी कारण से कोरोना पॉजिटिव हो जाएगा तो यह एप आपको तुरंत सतर्क कर देगा।

Arogya Setu app will also inform you about hot spots.

ऐसे में आप अपनी जांच सुनिश्चित करवा सकते हैं। यह एप आपको हॉट स्पॉट की सूचना भी दे देगा, ताकि आप रास्ता बदल लें।

The Arogya Setu App has been launched by the Ministry of Human Resource Development.

यह एप मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने लांच किया है। ‘आरोग्य सेतु’ नाम का यह एप प्रत्येक भारतीय के स्वास्थ्य और कल्याण के लिए डिजिटल इंडिया से जुड़ा है।

Arogya Setu App in Hindi

मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा,

“यह अत्याधुनिक ब्लूटूथ टेक्नोलॉजी, तकनीक, गणित के सवालों को हल करने के नियमों की प्रणाली अलगोरिथ्म और कृत्रिम बुद्धिमत्ता का उपयोग करते हुए, दूसरों के साथ उनकी बातचीत के आधार पर इसकी गणना करेगा।”

लॉन्च होने के बाद से आरोग्य सेतु एप को कुछ ही दिन में एक करोड़ से अधिक लोग डाउनलोड कर चुके हैं। एंड्रॉयड और आईफोन दोनों तरह के स्मार्टफोन पर इसे डाउनलोड किया जा सकता है।

11 भाषाओं में उपलब्ध, ऐप अखिल भारतीय स्तर पर उपयोग के लिए तैयार किया गया है। इसकी बनावट ऐसी है, जो अधिक काम का भार भी ले सकती है।

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Leave a Comment
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations