लॉकडाउन : उप्र में नींद से जागी सरकार ने सभी निजी अस्पतालों को तत्काल खोलने के आदेश दिए

Lockdown: Government awakened from sleep in UP, ordered to open all private hospitals immediately

लखनऊ, 31 मार्च 2020.  उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली बाजपा सरकार ने सभी निजी अस्पतालों को तत्काल खोलने के निर्देश दिए हैं।

लॉकडाउन के कारण ज्यादातर निजी अस्पताल बंद चल रहे हैं। इसके पीछे अस्पताल संचालक स्टाफ के आने-जाने की दिक्कतों का हवाला दे रहे हैं, जबकि आवश्यक सेवाओं के तहत अस्पतालों के खुलने पर रोक नहीं है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य सरकार ने सभी जिलों के डीएम को इस संबंध में सोमवार रात को आदेश जारी किया है। आदेश में निजी अस्पतालों के न खुलने पर कार्रवाई करने की बात कही गई है।

Patients can be treated in hospitals by following social distancing.

मुख्य सचिव आर.के तिवारी ने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए अस्पतालों में मरीजों का इलाज हो सकता है। अस्पतालों में निश्चित समय के लिए मेडिकल स्टाफ और दवाओं की उपलब्धता जरूरी है।

उन्होंने कहा, “जो अस्पताल संचालक निर्देशों का उल्लंघन करेगा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।”

रामायण, महाभारत नहीं रोटी, रोजगार दो, मजदूरों की मौत पर मनोरंजन : सत्ता में बैठे धृतराष्ट्र को जनता की ‘त्राहिमाम’ दिखाई नहीं दे रहा

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
उपाध्याय अमलेन्दु:
Related Post
Recent Posts
Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे। OR
Donations