Home » Latest » भारत बंद के समर्थन करने से रोकने को लोकमोर्चा संयोजक अजीत सिंह यादव गिरफ्तार
Lok Morcha convenor Ajit Singh Yadav arrested

भारत बंद के समर्थन करने से रोकने को लोकमोर्चा संयोजक अजीत सिंह यादव गिरफ्तार

लोकमोर्चा संयोजक अम्बेडकर पार्क से दोपहर 12 बजे पदयात्रा में शामिल होने पर अड़े थे

किसान हितों के लिए संघर्ष अंतिम दम तक   – अजीत यादव

बदायूँ, 8 दिसम्बर, 2020 : मोदी सरकार के किसान विरोधी तीन काले कानूनों के विरुद्ध किसान आंदोलन के 8 दिसंबर को भारत बंद का समर्थन करने से लोकमोर्चा संयोजक अजीत सिंह यादव को रोकने के लिए उनके घर पर सुबह से ही भारी पुलिसबल तैनात कर नजरबंद कर दिया गया था। लोकमोर्चा संयोजक का बदायूँ के अम्बेडकर पार्क से दोपहर 12 बजे पदयात्रा शुरू कर बदायूँ वासियों से भारत बंद का समर्थन करने की अपील करने का कार्यक्रम था।पदयात्रा अम्बेडकर पार्क से लबेला चौराहा,  छह सडका,  लालपुल होते हुए कचहरी पहुंचनी थी, जहां जिलाधिकारी को मांगपत्र सौंपा जाना था।

लोकमोर्चा संयोजक अजीत सिंह यादव ने नजरबंदी को गैरकानूनी बताया और  लोकतंत्र की हत्या कहा। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन से डरी योगी सरकार तानाशाही पर उतर आई है। नागरिकों के अभिव्यक्ति के संवैधानिक लोकतांत्रिक अधिकारों का गला घोंट कर लोकतंत्र की हत्या की जा रही है ।

उन्होंने कहा कि किसानों का आंदोलन अब पूरे देश का जनांदोलन बन गया है। संघ -भाजपा की मोदी सरकार लुटेरे कारपोरेट घरानों अम्बानी -अडानी और अमेरिकी कंपनियों की गुलामी कर किसानों,  मजदूरों,  गरीबों समेत आम जनता और देश से गद्दारी कर रही है। वह किसानों, मजदूरों, आदिवासियों, अल्पसंख्यकों समेत आम जनता के खिलाफ काले कानून बना रही है। देश की संपदा, संसाधनों,  रेलवे -बीमा -बैंक समेत पब्लिक सेक्टर के उपक्रमों,  जल,  जंगल, जमीन,  खेती किसानी समेत जनता की पूंजी पर देशी विदेशी बड़ी कारपोरेट कंपनियों का कब्जा करवा रही है। इस कारपोरेट लूट के विरुद्ध देश की जनता एकजुट न हो सके इसके लिए संघ -भाजपा और मोदी सरकार समाज में नफरत फैलाने,  साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण करने और लोकतंत्र को खत्म कर तानाशाही लादने की फासीवादी परियोजना पर काम कर रहे हैं।

मोदी सरकार ने खेती किसानी और कृषि खाद्यान्न बाजार पर देशी विदेशी कारपोरेट कंपनियों का कब्जा कराने को कृषि के  तीन काले कानून पारित किए हैं। किसान आंदोलन खेती किसानी और कृषि खाद्यान्न बाजार को कारपोरेट कंपनियों के कब्जे से बचाने के लिए चल रहा है। उन्होंने कहा कि लोकमोर्चा किसानों के आंदोलन का पूरी तरह समर्थन करता,  उन्होंने समाज के सभी वर्गों,  आम नागरिकों से किसान आंदोलन के आह्वान पर 8 दिसंबर को भारत बंद को सफल बनाने की अपील की है।

यह जानकारी एक प्रेस विज्ञप्ति में दी गई है।

हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें. ट्विटर पर फॉलो करें. वाट्सएप पर संदेश पाएं. हस्तक्षेप की आर्थिक मदद करें

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

top 10 headlines this night

एक क्लिक में आज की बड़ी खबरें । 24 मई 2022 की खास खबर

ब्रेकिंग : आज भारत की टॉप हेडलाइंस Top headlines of India today. Today’s big news …

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.