Home » Latest » गांधी अब ओटीटी पर भी दिखने चाहिए : अजय ब्रम्हात्मज
Mahatma Gandhi

गांधी अब ओटीटी पर भी दिखने चाहिए : अजय ब्रम्हात्मज

एक दिवसीय वेबिनर में बोले फिल्म समीक्षक अजय अजय ब्रम्हात्मज, गांधी सिनेमा से कभी नहीं होंगे ख़ारिज़

महात्मा गांधी की 73वीं पुण्य तिथि पर जनसंचार विभाग ने किया याद, महात्मा गांधी और हिन्दी सिनेमा पर हुई परिचर्चा

मंदसौर विश्वविद्यालय ने बापू को किया याद, पत्रकारिता विभाग ने आयोजित किया हिन्दी सिनेमा और महात्मा गांधी पर वेबिनार

देश और दुनियाँ के भिन्न विश्वविद्यालय के प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया

मंदसौर, 30 जनवरी 2021 : आंख के बदले आंख पूरे विश्व को अंधा बना देगी। महात्मा गांधी ने ये बात अपने जीवन काल में कहीं थी। जो आज भी प्रासंगिक है। जनसंचार का प्रमुख माध्यम सिनेमा ने गांधी विचारों को वैश्विक स्तर पर पहुंचाया है।

30 जनवरी को बापू की 73वीं पुण्य तिथि के मौके पर मंदसौर विश्वविद्यालय के जनसंचार एवं पत्रकारिता विभाग द्वारा हिन्दी सिनेमा और महात्मा गांधी विषय पर परिचर्चा का आयोजन किया गया। जिसमें देश के वरिष्ठ और चर्चित फिल्म समीक्षक अजय ब्रम्हात्मज बतौर अतिथि वक्ता मौजूद रहे।

अजय ब्रम्हात्मज देश के सिने इतिहास में 25 से अधिक वर्षों से फ़िल्म पत्रकारिता और फ़िल्म समीक्षा कर रहे हैं। कार्यक्रम में देश और दुनियाँ के करीब 10 विश्वविद्यालयों के प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया।

कार्यक्रम में बोलते हुए फिल्म समीक्षक अजय ने कहा कि गांधी ने भले ही अपने जीवन में कभी सिनेमा नहीं देखा और वो सिनेमा को खराब चीज मानते रहें हो लेकिन आज जब भारत में फिल्म निर्माण के सौ से अधिक वर्ष हो चुके हैं वहाँ गांधी और उनके विचार के साथ दर्शन हमें दिखता है।

कई फिल्मों का उदाहरण देते हुए उन्होंने गांधी और विषय की महत्ता को प्रतिभागियों के समक्ष रखा।

अजय ब्रह्मात्मज़ ने बताया कि महात्मा गांधी का हिंदी सिनेमा से गहरा नाता रहा है गांधी का मानना था कि इंसानियत जाति, धर्म, भाषा, नस्ल से ऊपर है उन्होंने समानता का समर्थन किया खास तौर से उन्हें विश्व में सभी के साथ समानता रखने के रूप में ही पहचाना जाता रहा है। आने वाले दिनों में गांधी ओटीटी प्लेटफॉर्म में भी दिखे ऐसी उम्मीद रखने वाले अजय ब्रम्हात्मज ने कार्यक्रम के अंत में बापू को नमन किया।

इस मौके पर विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. शैलेंद्र शर्मा ने बापू की पुण्यतिथि पर आयोजित किए गए इस कार्यक्रम की सराहना की और कहा कि यह विभाग जन सरोकार के कार्यों में लगातार जुड़ा हुआ है।

कार्यक्रम का संचालन जनसंचार विभाग के सहायक प्रोफेसर अरुण जैसवाल ने किया।

कार्यक्रम के अंत में जनसंचार एवं पत्रकारिता विभाग के अध्यक्ष डॉ. मनीष जैसल ने गांधी और सिनेमा के वर्तमान हालातों पर प्रकाश डालते हुए अतिथि को धन्यवाद ज्ञापित किया।

कार्यक्रम में सहायक प्रोफेसर सोनाली सिंह, छात्र शादाब चौधरी, कपिल शर्मा, जयेश, आदि उपस्थित रहे।  

Donate to Hastakshep
नोट - हम किसी भी राजनीतिक दल या समूह से संबद्ध नहीं हैं। हमारा कोई कॉरपोरेट, राजनीतिक दल, एनजीओ, कोई जिंदाबाद-मुर्दाबाद ट्रस्ट या बौद्धिक समूह स्पाँसर नहीं है, लेकिन हम निष्पक्ष या तटस्थ नहीं हैं। हम जनता के पैरोकार हैं। हम अपनी विचारधारा पर किसी भी प्रकार के दबाव को स्वीकार नहीं करते हैं। इसलिए, यदि आप हमारी आर्थिक मदद करते हैं, तो हम उसके बदले में किसी भी तरह के दबाव को स्वीकार नहीं करेंगे।

हमारे बारे में उपाध्याय अमलेन्दु

Check Also

lallu handed over 10 lakh rupees to the people of nishad community who were victims of police harassment

पुलिसिया उत्पीड़न के शिकार निषाद समाज के लोगों को लल्लू ने 10 लाख रुपये की सौंपी मदद

कांग्रेस महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी का संदेश और आर्थिक मदद लेकर उप्र कांग्रेस कमेटी के …

Leave a Reply